इंडिया वाल

कर्मचारियों के आंदोलन को लेकर अजय चंद्राकर का बड़ा बयान,बोले-सरकार मर भी जाए तो भी नहीं दे पाएगी 34 प्रतिशत DA

रायपुर। भाजपा के वरिष्ठ विधायक अजय चंद्राकर ने आंदोलनरत कर्मचारियों के विषय पर कड़ी टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की वित्तीय स्थिति बदतर है. सरकार के पास अब छत्तीसगढ़ को गिरवी रखने के अलावा कोई चारा नहीं. सरकार मर भी जाएगी तो भी अपने वादे पूरे नहीं कर पाएगी. कर्मचारियों को 34 प्रतिशत महंगाई भत्ता सरकार नहीं दे पाएगी.अजय चंद्राकर ने सरकार के साथ-साथ कांग्रेस विधायकों पर गंभीर आरोप मढ़ा है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पौने चार साल में एक काम नहीं हुआ. कोई भी बेहतर काम हुआ तो बता दें. कांग्रेस विधायक तो अनुशंसा तक का पैसा लेते हैं. वहीं गाय की तरह अन्य जानवरों के लीद की खरीदी वाले बयान पर कहा कि सरकार को हाथी की लीद भी खरीदनी चाहिए. प्रदेश में बहुत हाथी हैं, लीद से पुट्ठा बनता है. इसके अलावा ऐसे ही बहुत से शाहकारी जानवर हैं. सभी जानवर पूज्यनीय हैं, उन जानवरों की लीद भी खरीदनी चाहिए.

मोदी@20 किताब के प्रचार को आई कांग्रेस की टिप्पणी पर अजय चंद्राकर ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि किताब का प्रचार करना गलत नहीं. कांग्रेस के पास कोई तथ्य नहीं. कांग्रेस अतिरंजित बात करती है. कांग्रेसी गांधी परिवार के खाने-पीने-झूठे उठाने के लिए तैयार रहते हैं. प्रचार से कांग्रेस को आपत्ति तो सरकार जनसंपर्क विभाग बंद कर दे.उन्होंने मुख्यमंत्री निवास में तीजा-पोरा उत्सव के आयोजन पर कहा कि मैं प्रदेशवासियों को पोरा की बधाई देता हूं. मेरे घर में मैंने भी पारंपरिक रूप में पूजा की. मैंने कोई प्रचार नहीं किया. मुझे किसी तरह कोई प्रचार की जरूरत नहीं. सरकार को जो करना है करे, जो लिखवाना है लिखवाएं. कांग्रेस का काम फर्जी काम करना है.

पदोन्नति को लेकर व्याख्याता संघ की बैठक,बनी रणनीति
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS