अखण्ड धरना आदोलन 275वें दिन भी जारी,एयरपोर्ट का नाम बिलासा देवी केंवट होने पर समिति ने हर्ष जताया,पहली उड़ान के लिये शहर में गजब का उत्साह

बिलासपुर।हवाई सुविधा जनसंघर्ष समिति ने बिलासपुर एयरपोर्ट के नाम में हुये आंशिक सुधार का स्वागत किया गौरतलब है कि निषाद समाज एवं सभी नागरिकों को एयरपोर्ट का नाम बिलासा दाई के नाम पर रखे जाने का बहुत हर्ष था परन्तु बिलासा बाई केवटिन के बजाये बिलासा देवी केंवट होने की मांग निषाद समाज भी कर रहा था। इस हेतु मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा यह सुझाव स्वीकार कर नाम में आंशिक सुधार करने के निर्देश दिये है और अब एयरपोर्ट बिलासादेवी केंवट के नाम से जाना जायेगा।

पहली उड़ान जबलपुर से दिल्ली एवं दूसरी उड़ान प्रयागराज से दिल्ली के लिये बिलासपुर एयरपोर्ट से सभी टिकटें बुक करा ली गई है। लोगों में पहले दिन उड़ने का इतना उत्साह है कि जो लोग बिलासपुर से दिल्ली जाने की टिकट नहीं मिली है वे लोग पहले से दिल्ली जाकर बिलासपुर एयरपोर्ट में पहले दिन उतरने के लिए अपनी टिकटे बुक करा लिये है। इसी तरह से कई लोग जबलपुर एवं प्रयागराज से भी बिलासपुर आयेंगे। चक्कर भाठा बोदरी के नागरिकों अत्यधीक उत्साह वे बाहर से आने एवं जाने वाले यात्रियों का स्वागत करेंगे।बिलासपुर शहर के महापौर रामशरण यादव जो कि लगातार इस धरने को अपना समर्थन देते आये है। वे आज धरना स्थल पहुंच कर हवाई सेवा जन संघर्ष समिति के समस्त सदस्यों को बधाई दिये एवं मिठाईयां खिलाई।

आज के सभा में आगमन के क्रम से सुदीप श्रीवास्तव, बद्री यादव, देवेंन्द्र सिंह, समीर अहमद, जयदीप राबिन्सन, राघवेन्द्र सिंह, कमल सिंह, विजय भा, महेश दुबे, श्रीमती सीमा पाण्डेय, सी.एल.मीना, रणदीप खनूजा, डी0पी0 तिवारी, बबलू जार्ज, संजय पिल्ले, किशोरी लाल गुप्ता, चित्रकांत श्रीवास, नरेश यादव, शालिकराम, दिनेश रजक, ब्रम्हदेव सिंह, संतोष अग्रवाल, नवीन वर्मा, विभूतिभूषण गौतम, रघुराज सिंह समेत अन्य साथी पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *