कारोबार

America and India Relation- चुनाव परिणाम के बाद अमेरिका ने भारत के साथ नजदीकी रिश्ते जारी रहने की उम्मीद जताई

America and India Relation/वॉशिंगटन। भारत में लोकसभा चुनाव के परिणाम सामने आने के बाद नई सरकार के गठन से पहले अमेरिका ने मंगलवार को कहा कि वह भारत के साथ नजदीकी रिश्ते “जारी रहने” की उम्मीद करता है। लोकसभा चुनाव परिणाम में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को पूर्ण बहुमत मिला है

Join Our WhatsApp Group Join Now

America and India Relation/हालांकि भाजपा अकेले 240 सीटें मिली हैं और वह सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

हालांकि यह बहुमत के आंकड़े से 32 कम है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने अपनी नियमित प्रेस वार्ता के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा, “मैं अमेरिका और भारत के बीच नजदीकी रिश्ते जारी रहने की उम्मीद करता हूं। सरकार के स्तर पर, और दोनों देशों के लोगों के बीच भी बहुत अच्छा सहयोग है और मुझे उसके जारी रहने का पूरा विश्वास है।” एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “अमेरिका की तरफ से हम इतने बड़े पैमाने पर चुनावी प्रक्रिया पूरी करने के लिए भारत की सरकार और वहां के लोगों की प्रशंसा करते हैं।

हम अंतिम परिणाम जानने के लिए उत्सुक हैं।”

भारतीय शेयर बाजार बुधवार को हरे निशान में खुले। सुबह 9:35 बजे तक सेंसेक्स 402 अंक या 0.56 प्रतिशत की तेजी के साथ 72,482 अंक पर और निफ्टी 102 अंक या 0.47 प्रतिशत की तेजी के साथ 21,987 अंक पर था।बाजार का रुझान भी सकारात्मक बना हुआ है 1,455 शेयर हरे निशान में और 481 लाल निशान में हैं।

लार्जकैप के उलट मिडकैप और स्मॉलकैप में गिरावट देखी जा रही है। निफ्टी मिडकैप 100 सूचकांक 325 अंक या 0.66 प्रतिशत फिसलकर 48,825 अंक और निफ्टी स्मॉलकैप 100 सूचकांक 162 अंक या 1.04 प्रतिशत की गिरावट के साथ 15,529 अंक पर है। निफ्टी एफएमसीजी सूचकांक 2.21 प्रतिशत की तेजी के साथ बाजार का टॉप गेनर है। फार्मा, आईटी और मीडिया सूचकांकों में भी बढ़त के साथ कारोबार हो रहा है। वहीं, धातु, रियल्टी, एनर्जी और कमोडिटी सूचकांक 2.5 प्रतिशत तक की गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं।

सेंसेक्स में एलएंडटी, पावर ग्रिड, एनटीपीसी, एसबीआई, एक्सिस बैंक, भारती एयरटेल और अल्ट्राटेक सीमेंट में सबसे ज्यादा दबाव है। एचयूएल, नेस्ले, एशियन पेंट्स, एचसीएल टेक और महिंद्रा एंड महिंद्रा में सबसे ज्यादा तेजी रही। आनंद राठी ग्रुप के संस्थापक और वाइस चेयरमैन प्रदीप गुप्ता का कहना है कि ऐतिहासिक आंकड़े बताते हैं कि उतार-चढ़ाव के बावजूद बाजार ने लंबे समय में अच्छा रिटर्न दिया है। इससे पहले 2014 और 2019 के नतीजे आने के कुछ महीने बाद भी बाजार में तेजी देखने को मिली थी।

उन्होंने निवेशकों को जल्दबाजी में अपने शेयर न बेचने की सलाह दी है। उन्होंने अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने की सलाह दी है। सरकार की नीतियों में निरंतरता के कारण डिफेंस, इन्फ्रा और कैपिटल गुड्स सेक्टर को फायदा होगा। मंगलवार को एग्जिट पोल के उलट परिणाम आने के कारण बाजार में कोरोना के बाद सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली थी। इसके कारण सेंसेक्स और निफ्टी करीब छह प्रतिशत फिसलकर बंद हुए थे।

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close