VIDEO: अमित जोगी बोले- ऋचा जोगी जाति मामले में हाईपावर कमेटी के फैसले को चुनौती देंगे,हमें बताएँ- आदिवासी नहीं हैं तो फिर हमारी जाति क्या है….?

बिलासपुर । छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ( जे.) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी का कहना है कि ऋचा जोगी की जाति के मामले में हाई पावर कमेटी का फैसला अंतिम नहीं है । इस फैसले को चुनौती दी जाएगी। अमित जोगी ने कहा कि समिति के फैसले को मान भी लिया जाए तो क्या हम मंगल ग्रह से आए हैं। हमें यह बताया जाना चाहिए कि हमारी जाति क्या है और हम किस वर्ग से आते हैं।

बिलासपुर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान जब हाई पावर कमेटी की ओर से ऋचा जोगी के आदिवासी जाति प्रमाण पत्र को निरस्त किए जाने संबंधी फैसले के बारे में पूछा गया तो अमित जोगी ने कहा कि यह फैसला अंतिम नहीं है और इसे चुनौती दी जाएगी। उन्होंने बताया कि ऋचा जोगी के पास पुख्ता प्रमाण है । उनके मरहूम दादा अंग्रेजों के जमाने में ट्राइबल कोटे से रेलवे में नौकरी कर चुके हैं । इसी तरह उनके चाचा भी ट्राइवल कोटे से बैंक में नौकरी करते रहे। ऋचा जोगी के भाई भी इसी सरकार के अंतर्गत पंडरिया में मेडिकल ऑफिसर के पद पर वर्तमान में कार्यरत हैं। उनका भी सिलेक्शन ट्राइबल कोटे से हुआ है।

अमित जोगी ने आगे कहा कि जब भूपेश बघेल की समिति ने कह दिया है कि हम आदिवासी नहीं हैं। ठीक है ,इसे मान लेते हैं। लेकिन अगर हम आदिवासी नहीं हैं तो आखिर हमारी जाति क्या है वह भी बताएं। हमें यह भी बताना चाहिए कि क्या हम अनुसूचित जाति में आते हैं या हम अन्य पिछड़ा वर्ग में आते हैं या सामान्य वर्ग से आते हैं। अभी तो ऐसा लग रहा है जैसे हम अंतरिक्ष से आए हैं। अमित जोगी ने कहा कि मेरे पिताजी की जाति को उन्होंने निरस्त किया था। उनका मामला भी आज लंबित है। उस पर पहले फैसला होगा मेरी जाति को भी इन्होंने निरस्त किया है। मेरे पिताजी की जाति के फैसले के आधार पर मेरी जाति का भी फैसला होगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या अब वे मरवाही छोड़ेंगे । इस पर अमित जोगी का कहना था कि मरवाही और उनके परिवार का संबंध नेता वाला संबंध नहीं है बेटा वाला संबंध है । जब उनसे पूछा गया कि वे किस सीट से चुनाव लड़ेंगे ……तब उनका जवाब था कि अभी तो इसमें काफी समय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *