मेरा बिलासपुर

प्राचीन ऐतिहासिक मूर्ति बरामद..चार आरोपी गिरफ्तार.. ग्राहक बनकर पुलिस ने आरोपियों को ऐसे पकड़ा..पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने कहा..पांचवा जल्द पकड़ा जाएगा

बिलासपुर—जिले के मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम इटवापाली में तीन माह पहले भगवान गणेश की प्राचीन मूर्ति चोरी मामले का पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने खुलासा किया है।पुलिस कप्तान ने बताया कि पुलिस टीम ने मुखबीर की सूचना और लगातार पतासाजी के बाद चार आरोपियों को धर दबोचा है। मामले में चौथा आरोपी फरार है। जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।
 
                     जानकारी देते चलें कि करीब तीन महीने पहले 25 अगस्त की रात अज्ञात चोरों ने ईटवापाली स्थित भगवान गणेश की प्राचीन मूर्ति को पार कर दिया। आरोपियों ने भंवर गणेश की काले ग्रेनाइट की मूर्ति चोरी करने से पहले मंदिर के सेवक को बंधक बनाया था। पुलिस जांच पड़ताल में जानकारी मिली कि आरोपियों ने मूर्ति को तोड़कर चोरी किया है।
 
               पुलिस  कप्तान पारूल माथुर ने बताया कि मूर्ति चोरी होने के बाद पुलिस टीम को जांच पडताल के लिए जगह जगह रवाना किया गया। इस दौरान मुखबीरों को भी दोड़ाया गया। एसपी पारूल ने बताया कि मस्तूरी पुलिस,एसीसीयू की टीम लगातार जांच में जुटी हुई थी। इसी बीच पुलिस को मुखबिर से जानकारी मिली कि ग्राम चौहा के दो युवक काले पत्थर के एक टुकडे का सैम्पल लेकर मूर्ति का सौदा करने घूम रहे हैं।
 
             आरोपियों ने ग्राहकों को बताया कि मूर्ति पुरानी और चार करोड़ में  बेचना चाहते हैं। सूचना को एसएसपी पारूल माथूर ने गंभीरता से लेते हुए क्राईम बांच प्रभारी हरविन्दर सिंह को ग्राहक बनकर सौदा करने भेजा। हरविन्दर ने संदेहियों को कन्नौज उत्तरप्रदेश का व्यापारी बताया। एसपी के अनुसार तीन दिन पहले व्यापारी बनकर निरीक्षक हरविन्दर ने युवराज टण्डन से मुलाकात किया। हरविन्दर ने सौदे बाजी के दौरान  मूर्ति दिखाए जाने की बात कही।
 
        तीन दिसम्बर को संदेहियों से मुलाकात के दौरान हरविन्दर ने पांच लाख का नकली नोट दिखाते हुए एडवांस मनी देने की बात कही। क्राईम ब्रांच प्रभारी ने फिर से युवराज टण्डन से पहले मूर्ति दिखाने को कहा। इसके बाद युवराज टण्डन ने अपने दोस्त मोहताब सुमन को फोन कर मोटर सायकिल में मूर्ति लेकर आने को कहा। 
 
           जैसे ही मोहताब मोटर सायकिल प सवार होकर मूर्ति लेकर आया। झोला खोलकर मुर्ति दिखाते ही आस पास तैनात क्राइम ब्रांच की टीम और मस्तूरी पुलिस ने दोनो आरोपियों को धर दबोचा। युवराज और मोहताब ने कड़ाई से पुछताछ के दौरान रबताया कि  दोनों ने अपने 3 अन्य दोस्तों सुमीर राय, निशांत और अतुल भार्गव के साथ पैसे की लालच में मूर्ति चोरी को अंजाम दिया है।
 
                पुलिस कप्तान के अनुसार चार आरोपियों को मूर्ति लूट के अपराध में गिरफ्तार किया गया है। पांचवा आरोपी अतूल भार्गव फरार है। जल्द ही उसे भी धर दबोचा जाएगा।
                     
 बरामद सामान     
             
          खुलासा में पुलिस कप्तान ने बताया कि आरोपियों से अभी तक भगवान गणेश की चार टुकड़ों में खण्डित मूर्ति। 31  टुकड़ों में चांदी का मुकुट, एक चिड़िमार पिस्टल,एक सब्बल और घटना में उपयोग की गयी दो मोटरसायकल
 
 ईनाम का एलान
 
           पुलिस कप्तान ने बताया कि मूर्ति बरामदगी और आरोपियों को पकड़वाने वालों के लिए ईनाम का एलान किया गया था। संयुक्त पुलिस टीम ने अपने काम को बेहतर तरीके से अंजाम दिया है। सभी को ईनाम दिया जाएगा।          

महानगरीय तर्ज पर खड़ी क्रेटा कार की दो पहिया गायब..चार आरोपी पकड़ाए.. सामान समेत बदमाशों की क्रेटा बरामद
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS