और..भाग्य पर मेहनत फिर पड़ा भारी.. खुफिया निरीक्षक को मेरिट में दूसरा स्थान..अब मार्कर,व्हाइट बोर्ड से राकेश सवारेंगे बच्चों का भविष्य

बिलासपुर— राकेश गौतम मतलब विशेष शाखा पुलिस में पदस्थ दौड़ भाग के बीच जाना पहचाना मुस्कुराता चेहरा का नाम। यह चेहरा अब सहायक प्राध्यापक बन गया है। राकेश गौतम के जीवन में यह  यह परिवर्त.न एक दिन पहले लोकसेवा आयोग के सहायक प्राध्यापक परीक्षा परिणाम सामने आने के बाद हुआ है। मतलब अब राकेश गौतम जनप्रतिनिधियों या गुप्त जानकारियों के पीछे भागते अब नजर नहीं आएंगे। क्यों उन्होने अब हाथ में मार्कर लेकर व्हाइट बोर्ड पर बच्चों की भविष्य की रूप रेखा तैयार करने की जिम्मेदारियों को ले लिया है। जानकारी देते चलें पद राकेश के जीवन में इस प्रकार से डेजिग्नेशन बदलने का यह पहला मामला नही है। 
 
               पत्रकारों से राकेश गौताम का गहरा नाता रहा। बचपन से मेधावी और नपे तुले अंदाज में अपनी बातों को रखने वाले राकेश गौतम को जीवन में कुछ अलग ही करने की चाहत रही। शुरू से मेधावी छात्र रहे राकेश गौताम की प्रारंभिक शिक्षा कवर्धा में हुई। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी को लेकर उनकी पहचान बिलासपुर शहर से हुई। तैयारियों के दौरान राकेश गौतम को पहली सफलता पुलिस विभाग में मिली। आरक्षक रहते हुए उन्होने छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग की प्रतियोगी परीक्षा में शिरकत किया। मेहनत के साथ किस्मत ने भी साथ दिया। और फिर राकेश गौतम  सहायक जेलर बन गए।
 
            पुलिस के काम काज और विभाग के प्रति आदर रखने वाले राकेश गौतम को जेलर का पद रास नहीं आया। यही कारण है कि उन्होने तैयारियों का दामन नही छोड़ा। पुलिस विभाग में उपनिरीक्षक भर्ती परीक्षा में उच्चतर स्थान बनाया। विशेष शाखा पुलिस में 2011 से  2020 तक रायपुर और बिलासपुर में सेवाएं दी।
 
                 पुलिस के विशेष शाखा में रहते हुए राकेश ने पूरी तन्मयता के साथ जिम्मेदारियों का निर्वहन किया। इस दौरान कभी भी दृढ़इच्छा शक्ति और कठिन परिश्रम का दामन नहीं छोड़ा। एक बार फिर उन्होने सपना बड़ा किया। आने वाली पी़ढियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए लोक सेवा आयोग के 2020 में आयोजित सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा में भाग्य आजमाया। 
 
             और एक बार फिर मेहनत के आगे  भाग्य को झुकना पड़ा। राकेश गौतम ने सहायक प्राध्यापक परीक्षा परिणाम में राज्य की मेरिट सूची में दूसरा स्थान हासिल किया। राकेश गौतम की सफलता को लेकर विशेष शाखा पुलिस के कर्मचारी और अधिकारियों के अलावा माता पिता साथी गण गर्व महसूस कर रहे हैं। सभी ने सफलता के लिए लिए राकेश को बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *