कोरोना और कुपोषण को हराने मैदान में उतरी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका,घर घर पहुँचकर कोरोना वैक्सिनेशन के लिए कर रहे प्रेरित

नारायणपुर-कोविड-19 कोरोना वायरस के दूसरे लहर के संक्रमण को रोकने और राज्य शासन द्वारा जारी कुपोषण के खिलाफ अभियान को एक साथ चलाते हुए नारायणपुर जिले की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका मैदान में उतर गई है। इन आंगनबाड़ी अमलो द्वारा आंगनबाड़ी में दर्ज बच्चों के घर पहुंच बच्चों में कुपोषण से लड़ने की क्षमता विकसित करने वाले पौष्टिक आहार रेडी टू ईट वितरण किया जा रहा है। वही घर-घर पहुंचकर बच्चों के माता-पिता और घर के बुजुर्गों से भेंट कर कोविड-19 कोरोना वायरस के दूसरे लहर के संक्रमण को रोकने और कोरोना वैक्सिनेशन कराने के लिए भी प्रेरित कर रहे है। आंगनबाड़ी कार्यकताओं द्वारा डोर-टू-डोर घर पहुंच यह भी समझाया जा रहा है कि कोरोना और कुपोषण के खिलाफ जारी लड़ाई में सहयोग करे। बच्चों को पौष्टिक आहार रेडी टू ईट का सेवन कराए और घर से बड़े बुजुर्ग अनावश्यक घर से बाहर ना निकले। घर के सभी सदस्य कोरोना वैक्सिनेशन जरूर कराए।

घर से बाहर निकलते समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, भीड़ वाली जगहों में जाने से बचे और मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकले। वेक्सिनेशन के बाद भी सामाजिक दूरी का पालन करे। सर्दी-खासी, बुखार,सिर दर्द होने पर अपने पास के स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर कोरोना की जांच अवश्य कराए, कोरोना की जांच और इलाज शासन द्वारा निःशुल्क की जा रही है, चिकित्सकों के परामर्शनुसार दवाइयों का सेवन करे।नारायणपुर जिले के 554 आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका के द्वारा हितग्राहियों के घर- घर पहुंच कर उन्हें रेडी टू ईट का वितरण और कोरोना से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है। जिले मे 19 हजार 769 ऐसे हितग्राही हैं, जिन्हें घर पर ही रेडी टू ईट पहुंचा कर दिया गया है।

रेडी टू ईट के तहत ऐसे पोषण आहार हितग्राहियों को दिए जाते हैं जो कैलोरी और प्रोटीन से भरपूर हैं और इन्हें तुरंत बना कर आसानी से खाया जा सकता है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप तथा कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू के निर्देशानुसार तथा महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री रविकांत ध्रुर्वे के मार्गदर्शन में कोविड 19 कोरोना वायरस के दूसरे लहर के रोकथाम और नियंत्रण के लिए अपनाए गए प्रयासों की अवधि में हितग्राहियों को घर तक पहुंचा कर इसका वितरण किया जा रहा है।जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री ध्रुर्वे ने बताया कि इसके लिए गवर्नमेंट आॅफ इंडिया भारत सरकार के पोषण ऐप के माध्यम से ट्रैकिंग का कार्य भी किया जा रहा है। जिले में पोषण अभियान के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं, शिशुवती महिलाओं, 6 माह से 6 वर्ष तक के आयु के बच्चों तथा किशोरी बालक और बालिकाओं को रेडी टू ईट का वितरण किया जा रहा है। वितरण का कार्य हर माह के पहले व तीसरे मंगलवार को किया जाता है। जिले में शत-प्रतिशत हितग्राहियों को रेडी टू ईट का वितरण किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *