इंडिया वाल

4 जून के बाद क्या होगा,arvind kejriwal ने बता दिया…

दिल्ली के मुख्यमंत्री arvind kejriwal ने मंगलवार को जमशेदपुर में ‘इंडिया’ गठबंधन के प्रत्याशी समीर मोहंती के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 4 जून के बाद नरेंद्र मोदी इस देश के प्रधानमंत्री नहीं रहेंगे।

Join Our WhatsApp Group Join Now

इस तारीख के बाद केंद्र में ‘इंडिया’ गठबंधन की सरकार बनेगी और इसके बाद arvind kejriwal एवं हेमंत सोरेन दोनों जेल के बाहर होंगे। केजरीवाल ने कहा कि हेमंत सोरेन ने न कोई जुर्म किया और न ही किसी अदालत ने उन्हें दोषी कहा।

इसके बावजूद प्रधानमंत्री मोदी ने साजिश करके उन्हें जेल भेज दिया। उन्हें लगा था कि हेमंत सोरेन और मुझे जेल भेज देंगे तो हमारी पार्टियां टूट जाएंगी और हमारी सरकारें गिर जाएंगी, लेकिन, उलटे हमारी पार्टियों के नेता-कार्यकर्ता एकजुट हो गए।

arvind kejriwal ने हेमंत सोरेन को देश में आदिवासियों का सबसे बड़ा नेता बताते हुए कहा कि उन्हें जेल भेजा जाना पूरे आदिवासी समुदाय का अपमान है। उन्होंने आदिवासियों को चुनौती दी है, जिसका बदला आपको वोट से लेना है। मोदी जी ने पूरी कोशिश की कि मैं जेल से बाहर न निकल सकूं, लेकिन, मेरे ऊपर बजरंग बली का आशीर्वाद है।

दिल्ली के सीएम ने आरोप लगाया कि राम मंदिर के उद्घाटन में देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को सिर्फ इसलिए नहीं बुलाया गया, क्योंकि वे आदिवासी हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं में इतना अहंकार है कि वे नारा लगाते हैं, ‘जो राम को लाए हैं, हम उन्हें लाएंगे।’ क्या उन्हें ये नहीं पता कि हम सभी भगवान राम की वजह से दुनिया में आए हैं।

हमें ईवीएम पर बटन दबाकर उनके अहंकार को चूर करना है। उन्होंने कहा कि मोदी जी 400 सीटें इसलिए मांग रहे हैं कि उन्हें एससी, एसटी, ओबीसी का रिजर्वेशन खत्म करना है। वे संविधान को खत्म करना चाहते हैं, लेकिन, देश में कई जगहों पर घूमने के बाद मैं दावे के साथ कह रहा हूं कि हर जगह उनके खिलाफ माहौल है।

झारखंड की सभी 14 लोकसभा सीटों पर ‘इंडिया’ गठबंधन की जीत होगी। जनसभा को आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने भी संबोधित किया। हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन भी मौके पर मौजूद रहीं।

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close