मुआवजा मांगने पहुंचे हितग्राही..अमृत मिशन ने घोला जहर..किया गया बेघर

बिलासपुर—अमृत मिशन योजना की बिछाए गए पाइप लाइन के शिकार बेघर लोग आज शिकायत लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। पीड़ितों ने कलेक्टर प्रशासन के सामने ना केवल पीड़ा को जाहिर किया। बल्कि जल्द से जल्द मुआवजा दिए जाने की भी मांग की।

                      अमृत मिशन योजना के तहत तोड़फोड़ से प्रभावित रतनपुर वासी आज जिला कार्यालय पहुंचे। जिला प्रशासन के सामने अपनी पीडा जाहिर किया। पीड़ितों ने बताया कि अमृत मिशन योजना के तहत खारंग जलाशय खूंटाघाट से दायी तट नहर पर पाइप लाइन बिछाया जा रहा है। काम भी पूरा हो चुका है। लेकिन इस दौरान कई घरों को जबरदस्ती तोड़ा भी गया। अभी तक मुआवजा राशि नहीं दी गयी है।

                             ग्रामीणों ने बताया कि मामले में सभी लोगों ने अपनी पीड़ा को रतनपुर मुख्य नगर पालिका अधिकारी के सामने भी रखा। बावजूद इसके अभी तक ना तो मुआवजा राशि ही दी गयी है। और ना ही विस्थापितों को किसी प्रकार की राहत मिली है। 

                पीड़ितों ने जानकारी दी कि अमृत मिशन योजना के लिए पाइप बिछाने के दौरान कई कच्चे पक्के मकानों को तोड़ा गया। सार्वजनिक निर्माण को भी क्षतिग्रस्त किया गया। इंजीनियरों ने निर्धारित जमीन से ज्यादा जमीन हथिया लिया। और हमें बेघर कर दिया गया। और हम दर दर भटकने को मजबूर हैं।

               पीड़ितों ने जिला प्रशासन से फरियाद किया कि सभी पीड़ितों को जल्द से जल्द मुआवजा दिया जाए। इसके पहले हमें कभी जलसंसाधन विभाग भेजा गया तो कभी जिला कार्यालय का रास्ता दिखाया गया। लेकिन समस्या आज भी जस की तस खड़ी है।

               हितग्राहियों ने कहा यदि सात दिनों के अन्दर मुआवजा नहीं दिया गया तो रतनपुर रेस्ट हाउसे का सामने अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन और आमरण अनशन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *