मेरा बिलासपुर

कोरोना से सावधानः CMHO ने कहा..700 बिस्तर तैयार..आक्सीजन भी पर्याप्त..संक्रमण से बचने लगवाना होगा टीका

कोरोना को लेकर 27 अस्पतालों को पत्र..सात सौ बेड तैयार...आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था

बिलासपुर–मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.अनिल श्रीवास्तव ने कहा…कोरोना कभी गया ही नही है। यह हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा बन चुका है। बावजूद इसके लोग लापरवाही से बाज नहीं आ रहे है। एक बार फिर संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। जिन्होेने अभी तक दोनो टीका नहीं लगवाया है। या फिर बूस्टर डोज नहीं लिया है।  ऐसे लोग वैक्सीन सेन्टर पहुंचकर तत्काल अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करें। स्वास्थ्य विभाग ने तीसरी लहर के मद्देनजर केन्द्र और राज्य सरकार की गाइड लाइन के अनुसार तैयारियों को  पूरा कर लिया है। हमारे पास बिस्तर भी तैयार है। आक्सीजन की कमी नहीं होगी।

वैक्सीन सेन्टर पहुंच लगवाएं टीका

               जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर केन्द्र सरकार ने गाइ़ड लाइन जारी कर दिया है। राज्य सरकार से भी निर्देश हुआ है। मामले को गंभीरता से लेते हुए कोरोना से दो दो हाथ करने जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तरह तैयार है। 

डॉ.अनिल श्रीवास्तव ने बताया कोरोना से बचाव को लेकर सभी को जागरूक होना होगा। अभी तक जिन्होने दूसरा टीका नहीं लि है। या बूस्टर डोज नहीं लगवाया है। ऐसे लोगों को तत्काल वैक्सीन सेन्टर पहुंचकर टीका लगवाना होगा। शासन के निर्देश पर हमने अस्पतालों को पत्र जारी कर बेड और आक्सीजन को तैयार रखने को कहा है। हमने माक ड्रिल भी किया है।

700 बिस्तर की व्यवस्था

डॉ.श्रीवास्तव ने कहा हमारे पास सरकारी और निजी समेत तीन सौ बेड अभी से कोरोना मरीजों के लिए तैयार है। 27 अस्पतालों में जरूत पड़ने पर सात सौ से अधिक बेड उपलब्ध हैं। इसके अलावा भी यदि बेड की जरूरत पड़ती है तो उसके लिए भी हम अस्थायी अस्पताल और बेड के लिए तैयार हैं।

बोनस मिलने से दीवाली से पहले ही त्यौहार मना रहे हैं किसान-अमर अग्रवाल

आक्सीजन की नहीं होगी कमी

 सीएचएमओ ने बताया कि जिला अस्पताल, सिम्स, भरनी अस्पताल समेत सभी सीएचसी,पीएचसी सेन्टर को अलर्ट मोड पर रखा गया है। सभी अस्पतालों की लगातार निगरानी की जा रही है। सभी जगह पहुंचकर आक्सीरजन प्लान्ट का निरीक्षण किया जा रहा है। इसके अलावा आक्सीजन यंत्रों को जांचा पऱखा भी जा रहा है।

उन्होने बताया कि हमारे पास सिम्स और जिला अस्पताल में दूसरी लहर की तुलना में आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था है। जिला अस्पताल और सिम्स में आक्सीजन प्लान्ट पूरी तरह सेवा के लिए तैयार हैं। सीएचसी और पीएचसी सेन्टर में जम्बो आक्सीजन की व्यवस्था है। इसके अलावा भी यदि आक्सीजन की जरूरत पड़ेगी तो स्वास्थ्य उसके लिए भी पूरी तरह से तैयार है।

आयुर्वेदिक कालेज और अपोलो भी अलर्ट

श्रीवास्तव ने बताया कि आयुर्वेदिक कालेज में पचास बेड की व्यवस्था है। आक्सीजन आपूर्ति को लेकर पाइप पूरी तरह ठीक ठाक है। जरूरत पड़ी तो बेड की संख्या को बढ़ाया भी जा सकता है। अपोलो अस्पताल को भी पत्र लिखकर अलर्ड मोड में रहने को कहा गया है। 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS