पालक ही नहीं, शिक्षकों को भी चिंता…लहरिया ने छेड़ा राग..कांग्रेस नेताओं ने कहा…सरकार बनते ही मांग पूरी..

Editor
4 Min Read
IMG-20171125-WA0009बिलासपुर—नेहरू चौक पहुंचकर कांग्रेस नेताओं ने शिक्षाकर्मियों की बेमियादी हड़ताल का समर्थन किया है। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने शिक्षाकर्मियों को संबोधित भी किया। सरकार के खिलाफ जमकर भाषणवाजी करते हुए कांग्रेस सरकार बनने के बाद सभी मागों को पूरा करने का आश्वासन दिया। इस दौरान मस्तूरी विधायक दिलिप लहरिया ने तान छेड़कर शिक्षाकर्मियो को जमकर उत्साहित किया।
                       कांग्रेस नेताओं ने नेहरू चौक पहुंचकर शिक्षाकर्मियों की बेमियादी हड़ताल का समर्थन किया है। धरना प्रदर्शन को जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया, भुवनेश्वर यादव, ने संबोधित किया। धरना पंडाल में  जिला महामंत्री दुबे सिंह कश्यप,  मनोहर कुर्रे ,प्रदेश प्रतिनिधि अरुण चौहान,शहर कांग्रेस महामंत्री प्रमोद नायक , शिवबालक कौशिक और विरेन्द्र शर्मा भी मौजूद थे।
           शिक्षकों को संबोधित करते हुए राजेन्द्र शुक्ला और अटल समेत अन्य कांग्रेस नेताओं ने बताया कि जिला कांग्रेस कमेटी शिक्षकों का सम्मान करती है। शर्म आती है कि शिक्षकों को अपने अधिकारों के लिए स़ड़क पर उतरना पड़ा।  कांग्रेस नेताओं ने कहा कि पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने एलान किया है कि साल 2018 में विधानसभा चुनाव के बाद सरकार बनते ही प्राथमिकता के आधार पर शिक्षाकर्मियों का संविलियन किया जाएगा। इसके अलावा अन्य प्रमुख मांगों को तत्काल प्रभाव से पूरा किया जाएगा।
           कांग्रेस नेताओं ने शिक्षकों को बताया कि अधिकार मांगना भीख नही है। पालकों को बच्चों की पढ़ाई को लेकर जितनी चिंता है उतनी ही चिंता शिक्षक शिक्षिकाओं को भी है।  यह सच है कि कुछ महीने बाद बच्चों की परीक्षा है। समझने की जरूरत है कि ऐसी स्थिति लाने के लिए जिम्मेदार कौन है। पिछले 17 साल से सरकार ने शिक्षाकर्मियों की मांग को लटकाकर रखा है। हर बार आश्वासन का डोज देकर शिक्षाकर्मियों को बहका दिया जाता है। यदि इनकी मांगों को लेकर सरकार पहले ही स्पष्ट कर देती तो आज शिक्षकों को ना तो सड़क पर उतरना पड़ता और ना ही बच्चों की पढ़ाई  प्रभावित होती। दरअसल सारी समस्या सरकार की गलत नीतियों से पैदा हई है।  IMG-20171125-WA0011
                 कांग्रेस नेताओं ने बताया कि सोचकर शर्म आती है कि राष्ट्रनिर्माता सड़क पर हैं। यह जानते हुए भी भारत में शिक्षकों को सर्वोच्च दर्जा हासिल है। विपक्ष में रहते हुए भाजपा नेताओं ने शिक्षाकर्मियों को रेगुलर करने का आश्वासन दिया था। लेकिन सत्ता पाने के बाद हमेशा की तरह शिक्षाकर्मियों से किए गए वादों को भुला दिया गया। लेकिन भूपेश बघेल ने वादा किया है कि साल 2018 में सरकार बनते ही शिक्षाकर्मियों की 9 सूत्रीय मांग को हर हालत में प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाएगा।
                इस दौरान मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया तान छेड़कर शिक्षाकर्मियों के हड़ताल का समर्थन किया। शिङाकर्मियों ने कांग्रेस नेताओं का स्वागत ताली बजाकर किया।
पथरिया में भी समर्थन
              पथरिया में छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षक संघ की बेमियादी हड़ताल का कांग्रेसियों ने समर्थन किया । जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कांग्रेस राजेन्द्र शुक्ला ने धरना स्थल पहुंचकर हड़तालियों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया । इस दौरान जिला सचिव मुंगेली राजा सिंह ठाकुर,पौसरी सरपंच विनोद साहू ,पथरिया ब्लॉक उपाध्यक्ष राजेन्द्र गेंदले ,संतोष पाटले,ज्ञानदास चेलकर,किशोर ठाकुर ,खेमू साहू ,सलमान खान ,मुकेश मिरी ,निक्कू यादव ,संदीप साहू, रूपेश  यादव ,पिलेश्वर वर्मा ,मना साहू जी,डी के साहू  समेत सैकड़ों कांग्रेसी मौजूद थे।
close