पुलिस की बड़ी कार्रवाई..भारी मात्रा में लाखों रूपयों के जेवर बरामद..चार आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर—- सिविल लाइन पुलिस ने संगठित चोरों के गिरोह का पर्दाफाश किया है। बड़ी मात्रा में चोरी की रकम भी बरामद किया है। पुलिस के अनुसार आरोपी चोरी के जेवर को बेचने के फिराक में घूम रहे थे। चारों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है। आरोपियों के पास से लाखों रूपयों के जेवर के अलावा नगद भी जब्त किया गया है।

                सिविल लाइन पुलिस को मुखबीर से जानकारी मिली कि 3-4 अज्ञात लोग ईदगाह चौक के पास चोरी के जेवर को बेचने ग्राहक की तलाश रहे हैं। सूचना मिलते ही सिविल लाइन थानेदार दल बल के साथ मौके पर पहुंच गए। चार संदेहियों को माल असबाब के साथ थाना लाकर पूछताछ की  गयी है।

                    थानेदार सुरेन्द्र स्वर्णकार ने बताया कि आरोपियों के पास से छानबीन के दौरान पांच किलो से अधिक चांदी के जेवर बरामद हुए हैं। बरामद जेवर की कीमत करीब 3 लाख 52 हजार रूपयों से अधिक है। करीब 4 हजार रूपए नगद समेत तीन मोबाइल और अन्य सामान जब्त हुआ है। 

              मामले में चोरी के तीन आरोपियों के अलावा एक खरीदार को गिरफ्तार किया गया है। सभी आरोपी, बिलासपुर, बलौदा, जिला जांजगीर, कोरबा के रहने वाले हैं। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मिलकर कई जगह लूट की घटना को अंजाम  दे चुके हैं।

                       पकड़े गए आरोपियों के नाम इकबाल मोहम्मद निवासी खम्हरिया सीपत, छोटू केंवट निवासी  बलौदा जांजगीर, सुनील राठौर निवासी हरदीबाजार कोरबा और संतोष नेताम निवासी निवासी दामादपारा सिरगिट्टी बिलासपुर है ।

आरोपियों से जब्त सामान

      पुलिस ने आरोपियों के पास से चांदी के 47 जोड़ी पायल, 134 नग अंगूठी, 89 जोड़ी बीछिया, 10 जोड़ी बाली, 10 नग चाभी गुच्छा, गठुला दाना 33 नग और बाजूबन्द 3 नग बरामद किया है। आरोपियों के पास से चैन लाकेट 2 नग, चैन बिछिया 6 जोड़ी,29 जोड़ी चांदी पीतल की बिछिया,16 कड़ा समेत भारी मात्रा में जेवर जब्त किया गया है। चार हजार नगदी इलेक्ट्रानिक मशीन समेत अंगूठी बनाने के उपयोग में आने वाला राड भी पाया गया है। बरामद चांदी रकम की कीमत करीब 3 लाख 52 हजार से अधिक है।

                   पुलिस ने आरोपियों के पास से चिमटा बिल बुक और तीन मोबाइल को भी बरामद किया है। पकडे गए सभी चारो आरोपियों को न्यायालय के सामने पेश किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *