खाद्य विभाग की बड़ी कार्रवाई…कहीं ज्यादा तो कहीं कम मिला चावल..कहीं वितरण..तो कहीं हुआ ही नहीं..दो दर्जन दुकानों का होगा लायसेंस रद्द

BHASKAR MISHRA
4 Min Read
बिलासपुर— खाद्य विभाग टीम ने राशन दुकानों से मिल रही लगातार गड़बड़ी के मद्देनजर छानबीन के दौरान गलतियां पाए जाने पर एक साल 23 दुकानों का लायसेंस निरस्त करने का फैसला किया है। खाद्य विभाग कन्ट्रोलर ने बताया कि चिन्हित दुकानदारों ने नियमानुसार ना तो चावल  का वितरण किया है। और ना ही मिट्टी तेल  और शक्कर ही दिया है। जगह जगह छापामार कार्रवाई के दौरान हितग्राहियों की शिकायतों को सही पाया गया। पड़ताल के समय राशन इन्ट्री की गलत जानकारी भी मिली है। छानबीन के दौरान निगम क्षेत्र के 6 दुकानों में भी गड़बड़ी पायी गयी है।
                   खाद्य नियंत्रक राजेश शर्मा ने बताया कि पिछले कुछ दिनों में हितग्राहियों से लगातार कम चावल वितरण की शिकायत मिल रही थी। शिकायतों को ध्यान में रखते हुए अलग अलग राशन दुकानों में छापामार का निर्देश दिया गया। छानबीन के दौरान शिकायतों को सही पाया गया। सरकारी राशन दुकानों में कमोबेश सभी राशन कार्डों में अप्रैल मई का अतिरिक्त चावल वितरण नहीं होना पाया गया। इस दौरान यह भी पाया गया कि दुकानदारों ने प्रति व्यक्ति पांच किलो का चावल भी वितरण नही किया है। जबकि दुकानों को अप्रैल मई का अतिरिक्त चावल का स्टाक दिया जा चुका है। बावजूद इसके दुकानदारों ने हितग्राहियों को या तो प्रति व्यक्ति निर्धारित चावल दिया नहीं यदि दिया तो कटौती भी किया। लेकिन वितरण में निर्धारित मात्रा में चावल होना बताया जा रहा है। 

वितरण कम इन्ट्री दरूस्त

        राज्य शासन से प्रति परिवार 35 किलो चावल दिया जा रहा है। इसके अलावा केन्द्र शासन की योजना के तहत प्रत्येक परिवार को प्रति सदस्य 35 किलो चावल अप्रैल और मई माह का भी दिया जाना है।  लेकिन दुकानदार अतिरिक्त चावल या तो वितरित नहीं कर रहे है। या फिर कटौती के बाद दे रहे है। लेकिन इन्ट्री पूरा कर रहे है। इस तरह दुकानदार कम से कम 20-25 किलो चावल की चोरी कर रहा है। 
 दुकानदारों से होगी वसूली-
खाद्य   नियंत्रक राजेश शर्मा ने बताया कि जिन दुकानों में राशन  कम पाया गया है उनसे वसूली होगी। चाहे चावल हो या शक्कर संचालकों से जमाकर वितरण कराया जाएगा। इसके बाद उचित कार्रवाई भी होगी। लायसेंस भी निरस्त किया जाएगा।
इन दुकानों में छापा..जांच में पायी गयी गड़ब़ड़ी
   बिलासपुर निगम  में अम्बे स्वसहायता समूह, उचित प्राथमिक उपभोक्ता भण्डार, उद्रम प्राथमिक उपभोक्ता भण्डार देवरीखुर्द, शेरावाली साख समिति गोंडपारा, दीप महिला स्वसहायता समूह बहतराई में टीम ने जांच पडताल किया है। बिल्हा के ग्राम पंचायत बांका, पेण्डरवा, बहनी महिला स्व सहायाता समूह में कार्रवाई हुई।मस्तूरी में सेवा सहकारी समिति पर भी कार्रवाई हुई है। कोटा में ग्राम पंचायत नेवारीबहरा, ओम सांई नाथ समूह पोड़ी, जय अम्बे महिला समूह मोहदा, मां स्व सहायता समूह रानी बछाली ग्राम पंचायच टाटीधार में भी कार्रवाई हुई है।
              इसी तरह रतनपुर में मां पार्वती समूह, विनायक समूह, आठबीसा महिला समूह,सेवा सहकारी समिति और कस्तूरब स्व सहायता समूह में कार्रवाई हुई है।
                खाद्य अधिकारी ने बताया कि कार्रवाई के दौारन सभी 23 जगहों से चावल,शक्कर और मिट्टी तेल वितरण के अलावा अन्य लापरवाहियां भी सामने आयी हैं। 

   

                                         

TAGGED: ,
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close