मेरा बिलासपुर

बिलासपुर जनता के साथ बड़ी साजिश…हवाई सेवा समिति का एलान..इस तारीखो को महाबैठक..बनाएंगे महाआंदोलन की भूमिका

बिलासपुर— हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति ने महाबैठक का एलान किया है। चार पांच सालों से आंदोलन पर बैठे हवाई सुविधा आंदोलन के प्रतिनिधियों ने बताया कि दोनो सरकार बिलासपुर हवाई सुविधा को लेकर बहुत ही उदासीन है। अहिंसावादी तरीके से मांग किए जाने के बाद भी बिलासपुर के प्रति केन्द्र सरकार का दोयम रवैया अब बर्दास्त से बाहर हो गया है। आंदोलन को तेज करने को लेकर 23 मई को महाबैठक होगी। बैठक में जनसंघर्ष समिति के सक्रिय सदस्यों के अलावा समाज के गणमान्य लोगों से बैठक में शामिल होने को कहा है।

Join Our WhatsApp Group Join Now

बिलासपुर के साथ बहुत बड़ी साजिश

हवाई सुविधा संघर्ष समिति की अगुवाई कर रहे सुप्रीम कोर्ट के वकील सुदीप श्रीवास्तव ने बताया कि बिलासपुर के साथ हवाई सुविधा को लेकर लगातार अन्याय किया जा रहा है। पिछले तीन साल से बिलासपुर के नागरिक हवाई सुविधा और विस्तार को लेकर लगातार गांधी विचारधारा के तहत आंदोलन पर है। इस दौरान सुविधा से ज्यादा बिलासपुर वासियों को आश्वासन ज्यादा मिला है। संघर्ष से मिली थोड़ी बहुत हवाई सुविधाओं को सुनियोजित तरीके से छीना जा रहा है।

सुदीप ने बताया कि इन्ही सब बातों को ध्यान में रखकर 23 मई को हवाई सुविधा जनसंघर्ष के बैनर  तले महाबैठक का फैसला किया गया है। समिति ने महाबैठक में सामाज के हर सक्रिय व्यक्ति को आंदोलन में शामिल होने को कहा है। सुदीप ने बताया कि पिछले पांच दिनों में एयरपोर्ट से कोई उड़ान नहीं हुआ है। कई चलती फ्लाइट को पर्याप्त यात्री  के बाद भी बंद कर दिया गया है।

महाआंदोलन के लिए महाबैठक का एलान

उन्होने कहा कि राज्य और केंद्र सरकार एयरलाइन कंपनी के सामने बेबस नजर आ रहे हैं।  बिलासा बाई केंवट एयरपोर्ट से सप्ताह में पांच दिनों से फ्लाइट की उड़ान बन्द है। इसलिए 19 मई 2024 को हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति ने चालू फ्लाइट को बंद किए जाने के विरोध में आंदोलन तेज करने का फैसला किया है। साथ ही आंदोलन की रणनीतियों को लेकर राघवेन्द्र राव सभाभवन में महाबैठक का एलान किया है। बैठक 23 मई शाम 6 बजे होगी।

 बिलासपुर की जनता को न्योता

सुदीप ने कहा कि हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति को उम्मीद है कि बैठक और आंदोलन में सामाज के हर सक्रिय व्यक्ति शामिल होंगे। पत्र पत्रकाओं और समाचार के अन्य श्रोतों से सभी बिलासपुर वासियों को एयरपोर्ट के लिए संघर्ष में शामिल होने का निमंत्रण दिया जा रहा है। 1 मार्च 2021 को हवाई सेवा को लेकर बिलासपुर की जनता ने आंदोलन शुरू किया। आंदोलन के प्रभाव से सप्ताह में 8  फ्लाइट प्रयागराज, जबलपुर और दिल्ली के लिए शुरू हुई। लेकिन आज सप्ताह में सिर्फ दो दिन दिल्ली और कोलकाता की उडान भर रही है। इसके अलावा अन्य उड़ानें बन्द हैं। जबकि बिलासपुर एयरपोर्ट से पर्याप्त यात्री भी मिल रहे हैं।

फायदा के बाद भी उड़ान बन्द.?

सुदीप श्रीवास्तव बताया कि मार्च 2024 में बिलासपुर प्रयागराज 704 यात्री प्रयागराज गए और 600 यात्रियों का आना हुआ। बिलासपुर जबलपुर से 431 यात्री जबलपुर गए और 338 यात्रियों ने बिलासपुर पहुंचे। इसके अलावा बिलासपुर- दिल्ली से 1246 यात्री दिल्ली गए और 1026 यात्री दिल्ली से बिलासपुर की यात्रा की है। फायदे के बावजूद उड़ानों को बन्द किया जाना बिलासपुर संभाग के साथ बहुत बड़ा अन्याय है।राज्य सरकार ने दिल्ली – कोलकाता सीधी उड़ान में सब्सिडी का एलान किया है। बावजूद इसके कोई फ्लाइट उड़ने को तैयार नहीं है। मतलब केन्द्र सरकार विमान संचालक कम्पनियों पर दबाव बनाने में नाकाम साबित हो रही है। मतलब कम्पनियों के सामने घुटने टेक दी है।

महाधरना में शामिल

रविवार को हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति की महा धरना में प्रमुख रूप से अनिल गुलहरे, अनुराग पांडेय, दीपक कश्यप, केशव गोरख, महेश दुबे, चित्रकांत श्रीवास, अमर बजाज, संतोष पीपलवा, पवन पांडेय, हीरा यादव, मनोज श्रीवास, समीर अहमद, अशोक भंडारी, देवीदास, चंद्र प्रकाश जायसवाल, आशुतोष शर्मा, शैलेन्द्र उर्मलिया, रणजीत सिंह खनूजा, शिवा मुदलियार, विजय वर्मा, अश्वनी शर्मा, संतोष कुमार साहू, नारायण अवस्थी, अभय नारायण राय, राजा अवस्थी. मोहसिन अली, शाहबाज़ अली, अक़ील अली और सुदीप श्रीवास्तव ने शिरकत किया।

                   

Back to top button
close