इंडिया वाल

BJP National President: ये दिग्गज भी मैदान में

BJP National President।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में तीसरी बार सरकार बनी है। इस बीच सोमवार को प्रधानमंत्री ने कैबिनेट मंत्रियों को पोर्टफोलियो दे दिए हैं। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को मोदी 3.0 में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय जिम्मेदारी दी गई है। ऐसे में अब यह साफ हो गया है कि बीजेपी के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष पर बात होने वाली है। आइये जानते हैं बीजेपी अध्यक्ष बनने की दौड़ में किन नेताओं के नाम शामिल हैं।

Join Our WhatsApp Group Join Now

1- अनुराग ठाकुर
BJP National President।बीजेपी अध्यक्ष के लिए सबसे पहला नाम जो सामने आ रहा है वो है हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर का। हमीरपुर लोकसभा सीट से पांच बार सांसद रहे अनुराग ठाकुर को इस बार मोदी कैबिनेट में जगह नहीं दी गई है। पार्टी के भीतर अनुराग ठाकुर के अनुभव की बात करें तो वह युवा बीजेपी के अध्यक्ष के तौर पर काम कर चुके हैं। अनुराग ठाकुर जनवरी 2019 में संसद रत्न पुरस्कार से सम्मानित होने वाले भारतीय जनता पार्टी के पहले सांसद बने। इसके अलावा भी कई उपलब्धियां उनके नाम हैं।

2-विनोद तावड़े
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर एक और नाम जो चर्चा में है वो है विनोद तावड़े का। महाराष्ट्र से आने वाले तावड़े राज्य स्तर पर मंत्री रह चुके हैं। ऐसे में पार्टी ओबीसी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाकर अपने बिखरे वोट बैंक को फिर से एकजुट करने की कोशिश कर सकती है। वह भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की पृष्ठभूमि से हैं। विनोद तावड़े भी मराठा समुदाय से हैं, पिछले कुछ सालों में मराठा आंदोलन के कारण महाराष्ट्र में काफी आक्रोश रहा है। ऐसे में विनोद BJP के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

3- सुनील बंसल

BJP National President।वर्तमान में सुनील बंसल बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। बंसल को अमित शाह का करीबी कहा जाता है। सुनील बंसल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पूर्व प्रचारक रहे हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने अमित साहू को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था। उस वक्त सुनील बंसल को यूपी का सह प्रभारी बनाया गया था। उस चुनाव में बीजेपी ने काफी अच्छा काम किया।

4- बीएल संतोष
वर्तमान में भाजपा के महासचिव (संगठन) हैं। वह आरएसएस के बड़े प्रचारक भी रहे हैं, कुछ लोगों का मानना ​​है कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर बीएल संतोष बेहतर विकल्प हो सकते हैं, लेकिन उनके लिए यह पद पाना काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है। वो इसलिए क्योंकि 2023 में कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी को जो हार झेलनी पड़ी उसके लिए राज्य बीजेपी का एक बड़ा वर्ग बीएल संतोष को जिम्मेदार मानता है।

5- ओम प्रकाश माथुर
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की दौड़ में एक और दावेदार राजस्थान से ओम प्रकाश माथुर हैं। उनके राजनीतिक कद का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बायां हाथ कहा जाता है। छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी ने उन्हें राज्य का प्रभारी बनाकर भेजा था। उस चुनाव में बीजेपी ने बहुमत के साथ सरकार बनाई थी। इसके साथ ही दोड़ में उनके नाम की चर्चा भी तेज हो गई है।

6- स्मृति ईरानी
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राजनीतिक गलियारों में स्मृति ईरानी के नाम का भी चर्चा चल रही है। कहा जा रहा है कि BJP अपना प्रमुख स्मृति ईरानी को बना सकती है। हालांकि, इसकी अभी तक कोई अधिकारिक पुष्टी नहीं हुई है।

7- के लक्ष्मण
दक्षिणी राज्य तेलंगाना के पूर्व बीजेपी अध्यक्ष के लक्ष्मण पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी बने हुए हैं। फिलहाल वह बीजेपी के ओबीसी मोर्चा प्रमुख के पद पर हैं, ऐसे में बीजेपी उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाकर दक्षिणी राज्यों में ओबीसी वोट बैंक को साध सकती है। लक्ष्मण कोलेकर कहा जाता है कि वो राज्य में हर तरह से प्रचार करते कर सकते हैं, ये बात अलग है कि उनको तेलंगाना के बाहर कम ही लोग जानते हैं।

हालाँकि भाजपा के राजनीतिक फैसले अक्सर सोच से परे साबित हुए हैं, खासकर दिसंबर 2023 में जब मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में मुख्यमंत्री बनाने की बात आई तो बीजेपी के फैसले से हर कोई हैरान रह गया। इस वजह से यह आकलन करना मुश्किल है कि पार्टी किसे नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाएगी, लेकिन अभी भी कई ऐसे नाम हैं जिन्हें पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए राजनीतिक गलियारों में चर्चा चल रही है। अध्यक्ष बनने की लिस्ट में कई नाम सामने आते हैं।

ये सारे नाम संभावित हैं, अभी BJP का क्या फैसला होगा ये तो आने वाले दिनों में ही पता चलेगा। बीजेपी को नया अध्यक्ष मिलेगा की नहीं इसका पता भी वक्त पर ही चलेगा, क्योंकि BJP अक्सर ही अपने फैसलों से बसे चौंकाती है।

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close