भाई-भतीजों के बीच खूनी संघर्ष..डायल 112 की बहादुरी ..दौड़ाकर आरोपी को पकड़ा..थाना प्रभारी को खबर नहीं

बिलासपुर (रियाज़ अशरफी) –जमीन विवाद में सगे छोटे भाई ने  बड़े भाई और दो भतीजो पर हसिया और चाकू से जानलेव ा हमला किया है। हमले में घायल आरोपी के बड़े भाई और भतीजा की हालत गंभीर है। पुलिस डायल 112 के आरक्षक ने ततपरता दिखाते हुए तीनो घायलों को सिम्स पहुचाया। बचने के लिए अंधेरे का फायदा उठाकर भाग रहे आरोपी को 112 के चालक ने दौड़ाकर पकड़ा। देर रात आरोपी को सीपत थाना के सुपुर्द कर दिया गया है। सीपत पुलिस आरोपी के खिलाफ धारा 307 के तहत अपराध कायम किया है।
 
                     मामला सीपत थाना क्षेत्र के ग्राम मोहरा का है। हमले में बुरी तरह से घायल मनहरण साहू पिता संतराम साहू उम्र 58 वर्ष और उसके छोटे भाई आरोपी गौरीशंकर साहू के बीच पिछले एक साल से जमीन विवाद चल रहा है। दोनों का मकान गांव में अगल-बगल है ।गुरुवार की रात 10 बजे दोनों भाइयों के बीच एक बार फिर जमीन को लेकर झगड़ा हुआ। तैश में आकर आरोपी गौरी शंकर साहू ने अपने बड़े भाई मनहरण साहू पर धारदार हसिया से जानलेवा कर दिया। हमले में घायल मनहरण साहू लहूलुहान होकर गिर गया। मनहरण साहू के दोनों बेटे सरोज साहू उम्र 35 वर्ष,संदीप साहू उम्र 28 वर्ष पिता को बचाने पहुचे। खुंखार हो चुके गौरी शंकर साहू ने दोनों भतीजो पर चाकू से हमला कर दिया।
 
            सूचना पुलिस डायल 112 तक पहुंची। जानकारी मिलते ही बिना समय गवाए आरक्षक रमेश राठौर और चालक अश्विनी साहू मोहरा पहुचे। इस दौरान भाइयों और भतीजों के बीच नी संघर्ष जारी था। आरक्षक रमेश और चालक ने घायलों को 112 में बिठाया। आरोपी को दौड़ाकर धर दबोचा। डायल 112 घायलों को सबसे पहले बिलासपुर सिम्स में भर्ती कराया। घायलों में एक की हालत गंभीर है। इसके बाद 112 वाहन में पकड़कर बैठाए गए आरोपी गौरीशंकर साहू को देर रात सीपत पुलिस के हवाले किया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया है।
 
डायल 112 के आरक्षक की सक्रियता से बड़ा हादसा टला
 
मोहरा में भाई भतीजो के बीच का विवाद और भी आगे बढ़ सकता था। आरोपी भागने के फिराक में था। लेकिन समय रहते  पुलिस डायल 112 के आरक्षक रमेश राठौर और चालक अश्विनी पहुंच गए। दोनों ने सजगता के साथ सूझबूझ दिखाते हुए मौके घायलों को बचाने के साथ आरोपी को धर दबोचा।
 
सीपत थाना प्रभारी को पता नही..
 
 मोहरा के घटना की जानकारी सीपत टीआई को नही थी। जब घायलों को 112 के माध्यम से बिलासपुर सिम्स लाया गया। जानकारी मिलते ही विभाग के उच्च अधिकारी सिम्स पहुचे। र घटना की जानकारी टीआई को दी गयी। बताया जा रहा है कि घटना के समय सीपत थाना प्रभारी गुरुवार को सीएम ड्यूटी बिलासपुर में थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.