कलेक्टर की अध्यक्षता में समय सीमा की बैठक,संपन्न नक्सल पीड़ित परिवारों का पुर्नवास बेहतर तरीक़े से हो

नारायणपुर।कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू की अध्यक्षता में आज जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक संपन्न हुई। बैठक में उन्होंने कहा कि समय सीमा के प्रकरणों का विभागीय अधिकारी नियमानुसार कार्यवाही कर निराकरण करें एवं लंबित प्रकरणों पर कार्यवाही करते हुए सम्बंधित को सूचना देने दें। कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से टीकाकरण की जानकारी ली और अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में टीकाकरण का कार्य नियमित रूप से जारी रहे। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले में 16 जनवरी से टीकाकरण की शुरुआत की गई है और टीकाकरण का कार्य निरन्तर जारी है।

कलेक्टर ने निर्देशित किया कि जिन लोगों का टीकाकरण किया जाना है उन्हें पूर्व में ही इसकी सूचना दी जाये। बैठक में एसडीएम दिनेश कुमार नाग, संयुक्त कलेक्टर निधि साहू, डिप्टी कलेक्टर सर्व श्री वैभव कुमार क्षेत्रज्ञ, गौरीशंकर नाग, धनराज मरकाम, फागेश सिन्हा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एआर गोटा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग श्री ए सी बर्मन के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री साहू ने धान खरीदी की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने धान उपार्जन केन्द्रों से धान के उठाव, बारदाने की उपलब्धता आदि की जानकारी ली। बैठक में उन्होंने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की महत्वाकांक्षी योजना है और देश में ऐसी पहली विशेष योजना है। सभी गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण होना चाहिए। गौठानों में अब तक तैयार वर्मी कम्पोस्ट तथा उसकी बिक्री आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि गोबर तथा वर्मी कम्पोस्ट का रख-रखाव ठीक तरीके से होना चाहिए। गोबर खरीदी की ऑनलाईन एन्ट्री भी समय पर की जानी चाहिए। आकांक्षी जिला के संकेतक की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि सभी संबंधित विभाग नीति आयोग द्वारा निर्धारित संकेतक के मापदण्डों को पूर्ण करने की दिशा में गंभीरतापूर्वक कार्य करें। 

बैठक में कलेक्टर श्री साहू ने कहा कि ओरछा विकासखंड में राजस्व सर्वे का काम तेज गति से हो। इस कार्य में कोई भी दिक्कत आये तो मुझे अवगत करायंे। उन्हांेने कहा कि जन चौपाल, पीजी पोर्टल, जनशिकायत कलेक्टर जन चौपाल के अलावा जन प्रतिनिधियों के प्राप्त शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर बिंदूवार निराकरण करें। बैठक में कलेक्टर श्री साहू ने कहा कि नारायणपुर जिला अंतर्गत नक्सल पीड़ित व्यक्तियों/परिवारों का पुर्नवास बेहतर तरीक़े से हो इस हेतु अधिकारी मिलकर समन्वय के साथ काम कर कार्य योजना बनाये।

उन्होंने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में भारत नेट द्वारा नेट कनेक्टीविटी प्रदान की जानी है। इसके साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्र एवं स्कूलों को भी नेट कनेक्टीविटी से जोड़ा जाना है। संबंधित अधिकारी इस कार्य को प्राथमिकता के साथ कार्ययोजना बनाकर पूरा करना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास, मत्स्यपालन, कषि, महिला एवं बाल विकास विभाग, क्रेडा, जल संसाधन, लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, आदिवासी विकास, खाद्य सहित अन्य विभागों के समय सीमा से संबंधित प्रकरणों की बारी-बारी से जानकारी ली तथा उचित कार्यवाही कर प्रकरणों को निराकृत करने के निर्देश दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *