बृहस्पत सिंह ने कहा..कौन बोला मुख्यमंत्री बदला जाएगा..महाराजा बुद्धिमान इंसान..उन्होने भी नहीं कहा..राहुल ने भी नहीं बोला.भूपेश कर रहे विकास

बिलासपुर/ नई दिल्ली–कल तक स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ बयान देकर चर्चा में आए बृस्पत सिंह ने कहा..महाराजा सरगुजा विद्वान और नेक इंसान हैं…उन्होने कभी भी ढाई साल की मुख्यमंत्री की बात नहीं कही है। राहुल गांधी ने भी ढाई साल को लेकर आज तक कुछ नहीं कहा..पार्टी हाईकमान सोनिया गांधी ने भी ढाई ढाई साल पर बयान नहीं दिया है। सब कुछ प्रेस वालों ने पैदा किया है। बृह्सपत सिंह ने बताया कि इस समय हम दिल्ली में हैं। इसका मतलब यह नहीं कि शक्ति प्रदर्शन करने आए है। दरअसल हम लोग निवेदन करने आए है कि छत्तीसगढ़ आगमन की सूरत में राहुल गांधी का कार्यक्रम उनके क्षेत्र में रखा जाए।

               जानकारी देते चलें कि एक बार फिर दो दर्जन से अधिक छत्तीसगढ़ के विधायक दिल्ली में जमे हैं। कमोबेश सभी विधायकों का एक ही जवाब है कि काम से आए हैं..या फिर बहूत दिनों से दिल्ली आना नहीं हुआ इसलिए घूमने आए है।

                  दिल्ली में जमे रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह ने बताया कि करीब 24 विधायक इस समय दिल्ली में हैं। सबके अपने अपने काम हैं। कोई दिल्ली घूमने आया है तो कोई हाईकमान और राहुल गांधी से मुलाकात कर प्रदेश के विकास और काम काज की जानकारी देने आया है। बृहस्पत सिंह ने कहा मैं छत्तीसगढ़ भवन में ठहरा हूं। जबकि कुछ विधायक होटल में रूके हैं।

              एक सवाल के जवाब में बृहस्पत सिंह ने कहा कि राहुल गांधी का प्रदेश का दौरा संभावित है। चूंकि राहुल गांधी बहुत दिनों बाद आएंगे..इसलिए हम लोग चाहते हैं कि उनका एक कार्यक्रम क्षेत्र में हो। राहुल से फिलहाल किसी की मुलाकात अभी नहीं हुई है। मुलाकात कर कार्यक्रम रखने का निवेदन करेंगे। 

                             बृहस्पत ने शक्ति प्रदर्शन और ढाई ढाई साल के सवाल पर कहा..सब मीडिया की बात है। बताओं क्या कभी महाराजा सरगुजा ने ढाई ढाई साल के मुख्यमंत्री पर कुछ कहा..उत्तर नहीं होगा। बाबा साहब बुद्धिमान और सुलझे इंसान के साथ ही पार्टी के वरिष्ठ नेता है। वह पद से बहुत अलग और ऊंचा स्थान रखते हैं। सोनिया गांधी ने भी कभी ढाई ढाई साल की बात नहीं कही है। राहुल गांधी ने भी इस मामले में बयान नहीं दिया है। ना ही संगठन के किसी नेता और ना ही मुख्यमंत्री बघेल ने ही कुछ कहा है। ऐसे में ढाई ढाई साल की बात होना ही नहीं चाहिए। 

           पंजाब और छत्तीसगढ़ सरकार के सवाल पर रामानुजगंज विधायक ने बोला..पंजाब और छत्तीसगढ़ की स्थिति और परिस्थितियों में बहुत अन्तर है। पंजाब को छत्तीसगढ़ से नहीं जोडा जाना चाहिए। भूपेश बघेल प्रदेश के लोकप्रिय और सर्वमान्य नेता हैं। प्रदेश की 54 प्रतिशत आबादी ओबीसी की है। बावजूद इसके भूपेश बघेल पूरे प्रदेश के सर्वमान्य नेता है। प्रदेश का विकास भी तेजी से हो रहा है। विपरीत हालात में उन्होने प्रदेश को संभाला है। इसलिए मुख्यमंत्री बदलाव या ढाई ढाई साल का सवाल ही नहीं उठता है। सीएम और बाबा साहब के बीच अच्छे संबध भी है। ऐसा में नाराजगी का सवाल भी नहीं है।

            एक साल सभी विधायक दिल्ली में जमे हैं। क्या यह इत्तफाक है या फिर रणनीति..सवाल के जवाब में बृहस्पत ने कहा कि रणनीति बिलकुल नहीं है। सब लोग राहुल गांधी का कार्यक्रम अपने क्षेत्र में चाहते हैं..इसलिए सब लोग आए हैं। मिलकर अपने नेता से निवेदन करेंगे।

                  जानकारी देते चलें कि रामानुजगंज विधायक ने करीब दो महीने पहले अपने काफिले में हुए हमले को लेकर बाबा पर निशाना साधा था। इस बात को लेकर प्रदेश में जमकर बवाल भी हुआ। बृहस्पत सिंह के माफीनामा के बाद मामला किसी तरह शांत हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.