अब छत्तीसगढ़ के किसानों को प्रति क्विंटल धान का कितना पैसा मिलेगा,CM बघेल ने बताया

Cabinet Meeting Latest Update: कैबिनेट की प्रेस कांफ्रेंस (Cabinet Press Conference) को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा कि 2014 से पहले 1-2 फसलों पर खरीद होती थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सरकार आने के बाद बाकी फसलों को भी इसमें जोड़ा गया और किसानों की आय भी बढ़ी है. अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा है कि 2022-23 के खरीफ बिक्री सीजन के लिए 14 फसलों की MSP तय की गई है. धान की एमएसपी (MSP) 2040 रुपए प्रति क्विंटल तय की गई है. धान की MSP में 100 रुपए प्रति क्विंटल की बढोत्तरी की गई है. अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा कि आज कैबिनेट की बैठक में फ़ैसला लिया गया है कि तिल के दाम में 523 रुपए की बढ़ोतरी होगी. मूंग पर प्रति क्विंटल 480 रुपए की बढ़ोतरी होगी. सूरजमुखी पर 358 रुपए प्रति क्विंटल है. मूंगफली पर 300 रुपए की बढ़ोतरी होगी.

इधर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा कि – केंद्र सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया‌ था लेकिन समर्थन मूल्य में सिर्फ़ 100 रु की बढ़ोत्तरी हुई है। डीज़ल, बीज, दवा और खाद सबकी क़ीमतें बढ़ने से कृषि का लागत मूल्य बहुत बढ़ा है। समर्थन मूल्य कम से कम दो सौ रूपए बढ़ना चाहिए। धान के समर्थन मूल्य में 100 रु की बढ़ोत्तरी हुई है। हम किसानों को कई फ़सलों के लिए नौ हज़ार प्रति एकड़ की इनपुट सब्सिडी देते हैं। इस‌ राशि को मिलाकर अब छत्तीसगढ़ के किसानों को प्रति क्विंटल धान का 2640 रु मिलेगा। लेकिन समर्थन मूल्य में हुई बढ़ोत्तरी बहुत कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *