कोरोना के बढ़ते मामलों पर केंद्र सरकार ने जताई चिंता, पुलिस हुई सख्त, बढ़ा डेंगू और मलेरिया का भी खतरा

पश्चिम बंगाल में कोरोना (West Bengal Corona Cases) के बढ़ते मामलों के साथ अब डेंगू और मलेरिया (Dengue-Malaria) ने भी चिंता बढ़ा दी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Heath Ministry) ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर चिंता जताई है. कोरोना पर लगाम लगाने के लिए पुलिस ने कोरोना प्रोटॉकाल के पालन में सख्ती बढ़ा दी है और कोलकाता सहित राज्य के विभिन्न जिलों में जांच और जागरूकता अभियान चलाना शुरू किया है, दूसरी ओर, डेंगू- मलेरिया के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कोलकाता नगर निगम ने अब प्राइमरी व सेकेंडरी हेल्थ सेंटर खेलने का निर्णय लिया गया है. महानगर में पांच प्राइमरी एवं सेकेंडरी हेल्थ सेंटर खोले जायेंगे. प्रथम मॉडल सेकेंरी हेल्थ सेंटर खिदिरपुर में खोला जाएगा. अलगे साल मार्च तक इसे चालू किया जाएगा.

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, पश्चिम बंगाल में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन 800 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं. राज्य ने मंगलवार को 806 नए मामले दर्ज किए, जो पिछले दिन के आंकड़े से एक अधिक है, अब कोरोना केस 15,88,066 तक पहुंच गया है, जबकि 15 ताजा घातक मामलों में मरने वालों की संख्या अब 19,081 हो गई.

कोरोना के मामलों में 25 फीसदी का हुआ इजाफा

रविवार और शनिवार को ताजा कोरोना वायरस मामलों की संख्या क्रमशः 989 और 974 थी. पश्चिम बंगाल में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के बीच, केंद्र ने राज्य सरकार से मामलों और मौतों की तुरंत समीक्षा करने को कहा है. साथ ही कोविड-सुरक्षित त्यौहार सुनिश्चित करने के महत्व पर जोर दिया है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा कि कोलकाता में 21 अक्तूबर को समाप्त सप्ताह में नए मामलों में पिछले सप्ताह की तुलना में 25 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई, साथ ही 14 अक्तूबर को समाप्त सप्ताह में 217 मामलों तो वहीं 21 अक्टूबर को समाप्त हुए सप्ताह में 272 मामले सामने आए.

कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर बढ़ी चिंता

मंगलवार को ताजा संक्रमणों में, कोलकाता में राज्य में सबसे अधिक 248 थे.  इसने 15 नई मौतों में से छह को भी दर्ज किया. पश्चिम बंगाल ने पिछले 24 घंटों में 811 रिकवर किए गए, जिससे डिस्चार्ज दर 98.30 प्रतिशत हो गई. बुलेटिन में कहा गया है कि राज्य में अब तक 15,61,136 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं. अब सक्रिय मामलों की संख्या 7,849 है. सोमवार से राज्य में कोविड-19 के लिए 38,681 नमूनों का परीक्षण किया गया है, जिससे इस तरह की परीक्षाओं की कुल संख्या 1,89,95,979 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि मंगलवार को राज्य ने वैक्सीन की 9,93,576 खुराक दी, जिससे टीके की कम से कम एक खुराक प्राप्त करने वाले लोगों की कुल संख्या 7,03,51,402 हो गई.

डेंगू और मलेरिया की जांच के लिए खुलेंगे प्राइमरी और सेकेंडरी हेल्थ सेंटर

दूसरी ओर, डेंगू ओर मलेरिया के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कोलकाता नगर निगम के प्रशासक फिरहाद हकीम ने बताया कि महानगर में पांच प्राइमरी एवं सेकेंडरी हेल्थ सेंटर खोले जाएंगे. प्रथम मॉडल सेकेंरी हेल्थ सेंटर खिदिरपुर में खोला जाएगा. अलगे साल मार्च तक इसे चालू किया जायेगा. फिरहाद हकीम ने कहा कि सेकेंडरी हेल्थ सेंटर में इंडोर वार्ड की भी व्यवस्था रहेगी, जहां मरीजों को भर्ती रख कर इलाज किया जाएगा. 100 बेड के साथ सेकेंडर हेल्थ सेंटर खोले जाएंगे. यहां चेस्ट एक्सरे, यूएसजी सह कुछ रक्त जांच की भी व्यवस्था रखी जायेगी. वहीं सेकेंडरी हेल्थ सेंटर में केवल प्राथमिक जांच व्यवस्था होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *