CG-अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए कर्मचारी दे रहे सूचना,आंदोलन को मिलने लगा समर्थन

रायपुर।छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा, छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे, नवीन शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विकास राजपूत द्वारा अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा करने के बाद छत्तीसगढ़ अधिकारी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष करण सिंह अटारिया, शिक्षक महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष राजनारायण द्विवेदी ने भी अनिश्चितकालीन हड़ताल को समर्थन दिया है।

ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे, नवीन शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विकास राजपूत के नेतृत्व में 2012 – 13 व 2017 में अनिश्चितकालीन हड़ताल के बाद समतुल्य वेतन मान व सातवां वेतनमान व संविलियन की सफलता मिल चुकी है, इसीलिए प्रदेश के शिक्षक संवर्ग 25 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल होने का मंशा बना चुके है।

छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा है कि – ” कई अन्य संगठन के कर्मचारियो ने मुझे फोन कर कहा है कि आप लोग अनिश्चितकालीन हड़ताल कीजिए, हम भी शामिल होंगे, हम साथ है और हमे अब अनिश्चितकालीन हड़ताल से ही DA व HRA मिलेगा, इसका भरोसा है” उन्होंने आगे कहा है कि सामूहिक नेतृत्व व निष्पक्ष बैनर में आंदोलन की घोषणा का व्यापक असर हो रहा है, अधिकांश कर्मचारी समर्थन में है।

संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे और विकास राजपूत ने अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन के प्रदेश संयोजक कमल वर्मा जी से अधिकारी कर्मचारी महासंघ के प्रदेश संयोजक अनिल शुक्ला जी के अपील को कर्मचारी हित मे स्वीकार कर 25 जुलाई से ही अनिश्चितकालीन हड़ताल की घोषणा करने की मार्मिक अपील की है।

संजय शर्मा प्रदेश अध्यक्ष छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन, वीरेंद्र दुबे प्रदेश अध्यक्ष शालेय शिक्षक संघ, विकास राजपूत प्रदेश अध्यक्ष नवीन शिक्षक संघ ने कहा कि छत्तीसगढ़ ही एकमात्र ऐसा राज्य है जहां केवल 22 % मंहगाई भत्ता दिया जा रहा है और कर्मचारियों को अभी भी 6 वें वेतनमान के अनुरूप गृहभाडा़ भत्ता मिल रहा है, जिसके कारण समस्त शासकीय कर्मचारियों को प्रतिमाह लगभग 4000 ₹से 14000₹ की आर्थिक क्षति हो रही है।

प्रदेश में महंगाई भत्ता व 7 वे वेतनमान के अनुरूप गृहभाड़ा भत्ता की मांग को लेकर समस्त कर्मचारियों में सरकार की हठधर्मिता को लेकर गहरा आक्रोश है।अब समय एक, दो, तीन, पांच दिन के आंदोलन का नही अपितु आर-पार के लिए अनिश्चिकालीन आंदोलन का है, इसलिए अब इस दिशा में ईमानदारी से आगे बढ़ने की जरूरत है, इसीलिए बड़ी संख्या में शिक्षक व कर्मचारियो द्वारा अनिश्चितकालीन हड़ताल हेतु सूचना अपने अधिकारी व कार्यालय को दिया जा रहा है, अब कर्मचारी आक्रामक हड़ताल कर अपना सम्पूर्ण लंबित DA व HRA लेना चाहते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *