मेरा बिलासपुर

पार्किंग के निजी उपयोग के खिलाफ कार्रवाई शुरू, छः बेसमेंट को खाली कराया गया,200 भवनों को नोटिस 

बिलासपुर- शहर के भवन और कांप्लेक्स मालिकों द्वारा बेसमेंट पार्किंग का निजी और व्यावसायिक उपयोग के खिलाफ नगर निगम ने कार्रवाई शुरू कर दिया है। आज सत्यम चौक से पुराना बस स्टैंड तक के छः कांप्लेक्स में बने बेसमेंट पार्किंग को खाली कराया गया। इन कांप्लेक्स के बेसमेंट में रखें सामानों को हटाकर स्थान को पार्किंग के लिए आरक्षित की गई। इससे पूर्व शहर के ऐसे सभी …..भवन और कांप्लेक्स को नोटिस जारी किया जा चुका है,जो पार्किंग के लिए आरक्षित स्थान का उपयोग व्यावसायिक कार्यो के लिए कर रहे हैं। स्वयं से नहीं करने पर इन कांपलेक्स के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।शहर की सड़कों को व्यवस्थित करने और ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने प्रशासन के दोनों आईएएस अधिकारी बिलासपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के एमडी कुणाल दुदावत और निगम कमिश्नर वासु जैन ने ट्रैफिक विभाग के अधिकारियों के साथ गुरूवार को सड़कों पर पैदल चलकर जायजा लिया था । इस दौरान कांप्लेक्स और भवनों के बेसमेंट पार्किंग का निजी या व्यावसायिक उपयोग करने वालों के खिलाफ निगम को कार्रवाई के निर्देश दिए थे।

जिसके बाद निगम द्वारा नोटिस जारी किया गया था। निगम कमिश्नर वासु जैन और एमडी कुणाल दुदावत द्वारा बेसमेंट का उपयोग पार्किंग के लिए नहीं करने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई थी। जिसके बाद आज जोन क्रमांक 5 द्वारा मीरा टावर,मान्यवर शो रूम,सुपर बाजार,टुटेजा फर्नीचर,होटल ग्रांड अंबा,एएलएसएच कांप्लेक्स के बेसमेंट में रखें सामानों को हटाकर पार्किंग के लिए आरक्षित जगह को खाली कराया गया है। साथ में इन कांप्लेक्स संचालकों को हिदायत दी गई है की बाहर पार्किंग का बोर्ड लगाएं और सुचारू रूप से गाड़ियों को पार्क कराएं। आज की कार्रवाई में जोन कमिश्नर प्रवीण शर्मा समेत सभी जोन कार्यालय के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहें।

उस्लापुर में लगातार सातवे दिन भी अभियान जारी,अतिक्रमण हटाया गया
शहर के उस्लापुर रोड में शासकीय जमीन पर अतिक्रमण किए लोगों के खिलाफ नगर निगम की कार्रवाई लगातार जारी है। इस मार्ग में रेस्टोरेंट के अवैध निर्माण को ढहाने के बाद लगातार पिछले सात दिनों से निगम द्वारा कार्रवाई कर शासकीय जमीनों को अतिक्रमण मुक्त कराया जा रहा है। आज आशुतोष पाठक द्वारा किए अतिक्रमण को हटाते हुए बाउंड्रीवाल और शेड को तोड़ा गया। इसके अलावा नमिता ॠषि से पाटीदार भवन तक राजस्व विभाग द्वारा सीमांकन किया गया।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS