वनमण्डलाधिकारी ने मनाया राष्ट्रीय वन शहीद दिवस

रामानुजगंज(पृथ्वीलाल केशरी)प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी जिला मुख्यालय बलरामपुर में राष्ट्रीय वन शहीद दिवस मनाया गया। ड्यूटी के समय तैनात शहीद हुए कर्मचारियों को डीएफओ विवेकानंद झा के द्वारा उनके छायाचित्र पर पुष्प अर्पित करते हुए सम्मान किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि वन्यजीवों जंगलों और जंगलों की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। इस दिन वन रक्षकों,कर्मचारियों और अधिकारियों के बलिदान को याद करने के लिए मनाया जाता है।

उप वन मंडल अधिकारी अशोक तिवारी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बहुत से समुदाय और गांव हैं,जहां आजीविका का एकमात्र स्रोत जंगल है साथ ही, लोग अपने परिवार के रूप में वनस्पतियों और जीवों की रक्षा करते हैं कई तो अपनी जान जोखिम में डालकर उसकी रक्षा करते हैं; यही कारण है कि इस दिन को श्रद्धांजलि अर्पित करने और उनके योगदान की सराहना करने के लिए मनाया जाता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से पी.सी. मिश्रा,अजय वर्मा देवकुमार यादव,कालीराम, अखिलेश जयसवाल,विजय तिवारी,हरिकिशोर पैंकरा, रामप्रताप राही,सुरेश सोनी,रमेश तिवारी,अरूण यादव, अनिल कुजूर,सुनील ठाकुर,संजय श्रीवास्तव, अविनाश गुप्ता,अजीत कुजूर,मथुरा दुबे,घनश्याम शर्मा,नीरज मिश्रा,समलू राम एक्का,प्रमोद लकड़ा, दयाशंकर सिंह,शिवप्रसाद,एडमिन केरकटटा, रामनगीना,यूडी राम,राजाराम,माधव राज,मालती माझी,मोनिका तिग्गा,मनेसरी किण्डो,शसिका लकड़ा सहित वन विभाग में कार्यरत विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। वहीं कार्यक्रम का सफल संचालन श्याम बिहारी मिश्रा के द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.