नारायणपुर कलेक्टर ने दिये उड़न दस्ता दल का गठन कर कोरोना प्रोटोकाल का पालन नहीं वालों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश

नारायणपुर- कलेक्टर धर्मेश कुमार साहू ने आज कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में आज मुख्यमंत्री निवास, मंत्री, समाचार पत्र, विभागों, प्राप्त आवेदन पत्रों आदि के समय सीमा में लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर ने जिले में कोरोना वायरस के रोकथाम एवं नियंत्रण के संबंध में चर्चा की। उन्होंने कहा कि जिले में कोविड-19 के प्रसार को रोकने हेतु हर संभव प्रयास किये जाये। जिला मुख्यालय में संचालित 2 कोविड केयर सेंटरों के अलावा इंडोर स्टेडियम में आईसोलेशन वार्ड की स्थापना की जाये, इसके साथ ही कोविड-19 के पॉजीटिव पाये गये मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग सघन तरीके से करने कहा। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में उड़न दस्ता दल का गठन किया गया है। इस दल द्वारा कोरोना प्रोटोकाल का पालन नहीं करने वालों, दुकानदारों आदि के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। कलेक्टर ने क्षेत्र के व्यापारियों एवं नागरिकों से आग्रह करते हुए कहा है कि सभी लोग कोविड-19 की रोकथाम हेतु शासन द्वारा जारी गाईड लाईन का पालन करें एवं नगर में व्यवस्था को बनाये रखने में अपना सहयोग दें।

बैठक में, एसडीएम दिनेश कुमार नाग,डिप्टी कलेक्टर गौरीशंकर नाग, वैभव क्षेत्रज्ञ, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.ए.आर.गोटा, उपसंचालक कृषि बीएस बघेल, जिला शिक्षा अधिकारी श्री जीआर मंडावी के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  बैठक में कलेक्टर श्री साहू ने लोकसेवा गांरटी की समीक्षा करते हुए प्रदान की जाने वाले सेवाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों को आवश्यक प्रमाण पत्र बनाने हेतु स्कूलों के शिक्षकों को जिम्मेदारी तय की जाये। उन्होंने जिले में कोरोना वायरस को बढ़ने से रोकने हेतु जिले में लगने वाले सभी साप्ताहिक बाजार और मुर्गा बाजारों को बंद करने के निर्देश दिये।

जिले में पेयजल की आपूर्ति हेतु हैंडपंपों की मरम्मत एवं नवीन बोर खनन की जानकारी ली और कार्य में आ रही दिक्कतों के बारे में पूछा। कलेक्टर ने जिले में संचालित स्थायी आधार पंजीयन केन्द्रों में आधार पंजीयन की जानकारी ली और ऐसे क्षेत्र जहां लोगों का आधार पंजीयन कम हुआ हो, वहां शिविर आयोजित कर पंजीयन करने के निर्देश दिये। उन्हांेंने जिले के ऐसे चेकडेम, एनीकट, स्टापडेम और नदी-नालों जहां सफाई की आवश्यकता है, उसकी सूची मांगी और इन सभी में मनरेगा के तहत् सफाई करवाने हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होने मनरेगा के तहत् लंबित मजदूरी भुगतान की जानकारी ली और शीघ्र भुगतान करने कहा। बैठक में कलेक्टर ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास, महिला एवं बाल विकास विभाग, पशुपालन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, शिक्षा, मत्स्यपालन, पुलिस सहित अन्य विभागों के प्रकरणों की बारी-बारी से समीक्षा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *