TOP NEWS

CG News-ट्रायंगल लव स्टोरी मर्डर: युवती के अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझाई

कोरबा। नये साल के पहले दिन ही कोरबा पुलिस को अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में बड़ी सफलता मिली हैं। सीएसईबी पुलिस चौकी क्षेत्र में 20 साल की लड़की का नुकीले सूजा से गोदकर हत्या के मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों को अरेस्ट किया हैं। कोरबा एसपी संतोष सिंह ने बताया कि हत्या की ये पूरी वारदात आरोपी ने ट्रायंगल लव स्टोरी के कारण अंजाम दिया गया।

वारदात के बाद आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की 4 टीमें बनाई गयी थी। जिन्होने जशपुर, रायपुर, अहमदाबाद में रेड की कार्रवाई की थी। इस बीच आरोपी की जानकारी मिलने के बाद उसे फरार होने के दौरान राजनांदगांव से गिरफ्तार किया हैं। वही पुलिस ने इस वारदात में हत्यारे को भगाने में साथ देने वाले उसके ममेरा भाई को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया हैं।

गौरतलब हैं कि कोरबा जिला के सीएसईबी पुलिस चौकी क्षेत्र के पंप हाउस कॉलोनी निवासी 20 वर्षीय युवती नील कुसुम पन्ना की लहूलुहान लाश घर पर मिली थी। 24 दिसंबर को हुए इस हत्याकांड की जानकारी के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो लड़की के शव पर नुकीले हथियार से ताबड़तोड़ हमला कर बेरहमी से हत्या किये जाने की जानकारी सामने आयी थी।

इस अंधे कत्ल की तफ्तीश के दौरान पुलिस ने मौका ए वारदात से आपत्तिजनक सामान के साथ ही शहबान खान नामक युवक का आधार कार्ड, अहमदाबाद से रायपुर तक आने के फ्लाइट का टिकट, रायपुर से कोरबा तक आने का बस का टिकट बरामद हुआ था। इस अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाने के लिए कोरबा एसपी संतोष सिंह ने तत्काल पुलिस टीम गठित कर हत्यारों का सुराग जुटाने के साथ ही उनकी गिरफ्तारी का निर्देश दिया गया था।

शिक्षा विभाग के नए सेटअप की अज़ब कहानी..! एक एचएम और दो टीचर कैसे पढ़ाएंगे 5 क्लास के 80 बच्चों को..? फेडरेशन ने उठाया सवाल

आरोपी को पकड़ने के लिए एसपी ने चार अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। एक टीम आरोपी शहबान खान के जशपुर स्थित निवास पर जाकर उसके पूर्व अपराधिक इतिहास और सहयोगियों के बारे में पता करना प्रारंभ किया। दूसरी टीम के द्वारा घटनास्थल पर उपलब्ध साक्ष्य का विश्लेषण कर सबूत एकत्रित करना प्रारंभ किया किया गया। साइबर सेल की टीम को 2 भागों में बांटकर सीसीटीवी फुटेज और तकनीकी आधार पर आरोपी के बारे में पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिए गए। पुलिस की तफ्तीश में सामने आया कि आरोपी वारदात के ठीक एक दिन पहले होटल शालीन में रात करीब 1 बजे आकर रुका था।

यहां से सुबह 8 बजकर 10 मिनट पर चेकआउट कर रवाना हो गया था। घटना के बाद वह दोबारा वापस होटल नही गया। आरोपी के भागने के संभावित रास्तों पर लगे सीसीटीवी कैमरों का अवलोकन करते हुए आगे बढ़ने पर पाया गया कि आरोपी नया बस स्टैंड टीपी नगर कोरबा से टैक्सी में सवार होकर कटघोरा बस स्टैंड के पास उतरा है।

कटघोरा से अंबिकापुर बस की ओर गया है, एक टीम को तत्काल अंबिकापुर रवाना किया गया। जो अलग अलग स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों के मदद से पता चला कि आरोपी ने एक एटीएम से कुछ रकम निकाला है । सीसीटीवी कैमरे में 2 लोग दिखाई दे रहे थे आरोपी अपने मुंह पर गमछा बांधा हुआ था किंतु आरोपी के साथी का चेहरा खुला हुआ था। मुखबिर ने पहचान कर बताया उक्त व्यक्ति आरोपी का ममेरा भाई तबरेज खान हैं। तबरेज खान भी घर से फरार पाया गया।

SDM के निरीक्षण में शिक्षक मिले अनुपस्थित, नोटिस जारी कर मांगा जवाब

मुखबिरों ने बताया कि आरोपी सहबान खान को तबरेज खान के साथ देखा गया है और वह उसको भगाने का प्रबंध कर रहा है और उसको नया मोबाइल नंबर भी दिया है, लेकिन नंबर बंद आ रहा था । स्थानीय मुखबिरों और बस एजेंटो ने बताया कि आरोपी 26 तारीख को बस के माध्यम से बनारस होकर रवाना हुआ है, इस आधार पर सीसीटीवी फुटेज का अवलोकन करते हुए टीम बनारस होकर अहमदाबाद पहुंची। लेकिन पुलिस के आने की सूचना आरोपी को तबरेज खान ने दे दिया था.

पुलिस की एक टीम अहमदाबाद में ही रोककर आरोपी के बारे में तलाश करती रही। इसी दौरान 28 दिसंबर को आरोपी ने पुणे स्थित रेलवे स्टेशन के पास से अपने अकाउंट से पैसा निकाला गया। इस जानकारी के मिलते ही एक टीम तत्काल पुणे महाराष्ट्र के लिए रवाना किया गया। यहां मुखबिर से आरोपी तबरेज खान के रायपुर जाने और आरोपी को भगाने का प्रबंध करने की जानकारी सामने आयी। इस आधार पर आरोपी तबरेज खान को पकड़ने के लिए एक टीम रायपुर रवाना किया गया।

लेकिन एक बार फिर दोनों आरोपियों का मोबाइल बंद होने से पुलिस को सफलता नहीं मिल पायी। इसी दौरान नागपुर गई टीम के स्थानीय मुखबिर एवं सूचना तंत्र के माध्यम से पता कि आरोपी पुणे-नागपुर से दुर्ग की ओर जाने वाली बस में सवार होकर रवाना हुआ है।

बस का सही पता नहीं चल पा रहा था, बावजूद इसके एसपी संतोष सिंह के दिशा निर्देश पर रायपुर गए हुए टीम को तत्काल नागपुर दुर्ग हाईवे पर आने वाली बसों को चेकिंग करने के लिए राजनांदगांव रवाना किया गया। महाराष्ट्र गई टीम भी महाराष्ट्र से रायपुर के लिए निकली।

सिम्स कर्मचारियों की हड़ताल,स्वास्थ्य मंत्री TS सिंहदेव ने बिलासपुर विधायक,प्रमुख सचिव समेत अधिकारियों के साथ की मीटिंग

राजनांदगांव पुलिस की मदद से चिचोला बॉर्डर पर महाराष्ट्र की ओर से आने वाली सभी वाहनों की सघन चेकिंग शुरू की गई, तो आरोपी बस में सवार होकर आता हुआ मिला। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि तबरेज खान रायपुर में आया हुआ है जिससे मिलकर दोनों भागने का प्लान कर रहे थे। पुलिस की 7 दिन की कड़ी मशक्कत के बाद कोरबा पुलिस नेआरोपी शाहबान खान और उसके सहयोगी तबरेज खान को गिरफ्तार कर लिया गया।

एसपी संतोष सिंह ने बताया कि पूछताछ पर आरोपी शाहबान खान ने बताया कि वह पूर्व में सिटी बस में कंडक्टर था। उसी बस में मृतिका आना-जाना करती थी। जहां से दोनों की पहचान हुई और दोनों आपस में प्रेम करने लगे। लेकिन आरोपी कोरबा से काम छोड़कर जब अहदाबाद काम करने चला गया, तो मृतिका का किसी दूसरे लड़के के साथ अफेयर शुरू हो गया। जिसे वह कई बार मना किया, लेकिननहीं मानने पर ट्रायंगल लव स्टोरी में फंसकर आरोपी समझाने की नीयत से कोरबा आया था। यहां आरोपी ने मृतका के घर जाकर मिलने के बाद दोनो के बीच शारीरिक संबंध भी बना था

इसके बाद आरोपी ने मृतिका को एक बार फिर समझाने का प्रयास किया, लेकिन मृतका किसी दूसरे से प्रेम संबंध होने से इंकार करती रही, तब गुस्से में आकर उसने मृतिका पर ताबड़तोड़ हमला कर हत्या कर फरार हो गया। पुलिस ने इस वारदात के मुख्य आरोपी सहबान खान और उसके सहयोगी ममेरे भाई को अरेस्ट कर लिया हैं।

 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS