हर ब्लॉक में बनेगा एक-एक स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल,दो ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट को धमतरी ज़िले में मिली स्वीकृति

धमतरी- धमतरी जिले में दो ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट की स्वीकृति मिली है। जहां जिला अस्पताल धमतरी में 225 सिलेण्डर प्रतिदिन भरने की क्षमता वाला प्लांट लगाया जाएगा, वहीं भखारा में 125 ऑक्सीजन सिलेण्डर क्षमता वाला प्लांट स्थापित किया जाएगा। वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए भावी तैयारियों के संबंध में जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.डी.के. तुर्रे ने उक्त जानकारी बैठक में दी। दरअसल आज सुबह 11 बजे कलेक्टोरेट सभाकक्ष में प्रदेश के वाणिज्यिक कर (आबकारी), वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने ज़िला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। इस मौके पर उन्होंने धमतरी ज़िले में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए किए गए उपाय और प्रयासों को सराहा। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि खतरा अभी टला नहीं है इसलिए पहले से ज़्यादा एहतियात बरतने की ज़रूरत है।इस दौरान डॉ.तुर्रे ने बताया कि वर्तमान में जिले में 400 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध हैं। कोरोना से ग्रसित मरीजों के लिए जिले के दो डेडिकेटेड कोविड अस्पताल सहित सात कोविड केयर सेंटर में कुल 310 बिस्तरों में सेंट्रल पाइपलाइन के जरिए ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था की गई है।  इसके अलावा 12 निजी अस्पतालों को कोविड केयर सेंटर के रूप में उपचार की अनुमति दी गई है, जहां 341 बिस्तरों की उपलब्धता है। इसमें 193 ऑक्सीजनयुक्त, 86 आईसीयू और 62 नॉन ऑक्सीजनेटेड बिस्तर हैं।

उन्होंने बताया कि टीकाकरण के मामले में धमतरी ज़िले में अब तक 5,70,173 लक्ष्य के विरुद्ध अब तक 1,88,323 को  पहला डोज और 45516 को दूसरा डोज लगाया जा चुका है । इनमें पहला डोज हेल्थ केयर वर्कर को लगभग 90%, फ्रंट लाइन वर्कर  को 87%,  45 से अधिक आयु वर्ग के 1,60,753 में से 1,57,570 याने 98%, 18 से 44 साल की उम्र के 3,94,724 लक्षित लोगों में से 17,789 लोगों को लग चुका है। बैठक में कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य ने बताया कि ज़िले में 18 से 44 साल के शत-प्रतिशत लोगों का पंजीयन cg teeka पोर्टल में कर दिया गया है और टीके की उपलब्धता के हिसाब से उनको टीका लगाने की योजना है।

बताया गया कि ज़िले में अब तक 26,105 पॉजिटिव प्रकरणों में 24,789 लोग ठीक हो चुके हैं और मृत्यु दर कुल पॉजिटिव प्रकरण का 2% (याने 539 लोगों की मृत्यु हुई) है। इस तरह कोरोना से बीमार हुए मरीजों की रिकवरी दर 95% और पॉजिटिविटी दर 9% है। इसलिए अभी भी लोगों को सावधानी बरतते हुए भीड़ भाड़ वाले इलाके में जाने , बिना मास्क नहीं निकलने और साफ सफाई बनाए रखने की हिदायत दी जा रही , ताकि यह दर 5% से नीचे चला जाए। इसके अलावा ज़िले में कोरोना बीमारी के लिए पर्याप्त मात्रा में दवाइयां उपलब्ध हैं। लक्षणात्मक मरीज़ और उनके परिजनों को औसतन हर रोज़ 300 मितानिन किट वितरित किया जा रहा है। इस तरह अब तक 18 हजार किट का वितरण जिले में किया जा चुका है।

   बैठक में कैबिनेट मंत्री लखमा ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत किए गए कार्यों और मजदूरी भुगतान की प्रगति की जानकारी ली। मुख्य कार्यपालन अधिकारी ज़िला पंचायत मयंक चतुर्वेदी ने बताया कि आज की तिथि में योजना के तहत 1,14,000 मजदूर जिले में कार्यरत हैं। पिछले एक सप्ताह से एक लाख के करीब मजदूर कार्यरत हैं, जो मुख्यतः नरवा के काम में सलंग्न हैं। यह कार्य वन विभाग के साथ मिलकर किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि जून तक 2021-22 में 45 करोड़ 43 लाख के लेबर बजट के लक्ष्य के विरुद्ध मजदूरी में 31 करोड़ 64 लाख 85 हजार  (99%) और 27 लाख रुपए सामग्री पर व्यय किया गया है। बैठक में वनमंडलाधिकारी श्रीमती सतोविशा समाजदार ने बताया कि तेंदूपत्ता खरीदी के 5200 मानक बोरा लक्ष्य के विरुद्ध 4805 मानक बोरा खरीदी की गई और भुगतान  का प्रतिशत 72 है। इस प्रकार प्रदेश में धमतरी ज़िला खरीदी में तीसरे स्थान पर और हितग्राहियों को भुगतान में पहले नंबर पर है। इसके साथ ही ज़िले में सभी 50 लघु वनोपज की खरीदी 261 समितियों के ज़रिए की जाती है और धमतरी ज़िला इनकी खरीदी में भी राज्य में बेहतर प्रदर्शन करते हुए दूसरे स्थान पर है।

बैठक में स्वामी आत्मानंद अंगेजी माध्यम स्कूल की स्थिति की समीक्षा के दौरान ज़िला शिक्षा अधिकारी डॉ.रजनी नेल्सन ने बताया कि बठेना स्थित शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला में 345 बच्चों की भर्ती कर पढ़ाई पढ़ाई शुरू कर दी गई है और यहां संसाधनों की पूर्ति हो गई है। उन्होंने बताया कि हर ब्लॉक में एक-एक स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल बनना है। कुरूद में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, नगरी में श्रृंगी ऋषि उच्चतर माध्यमिक शाला, मगरलोड में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भैंसमुंडी का चिन्हांकन कर लिया गया है।  अधोसंरचना विकास के लिए 43-43 लाख रुपए प्रति स्कूल की दर से मिला है और प्राक्कलन लोक निर्माण विभाग से प्राप्त हो चुका है। प्रभारी मंत्री ने इस कार्य को तेज़ी से करने के निर्देश दिए हैं।

आगामी खरीफ मौसम के मद्देनजर किसानों को समय पर धान बीज और उर्वरक उपलब्ध कराए जाने पर प्रभारी मंत्री ने बैठक में ज़ोर दिया। इस मौके पर उन्होंने राजीव गांधी किसान न्याय योजना की प्रगति की समीक्षा की। बताया गया कि ज़िले के 1,09,674 किसानों को पहली किश्त के रूप में 66 करोड़ 46 लाख रुपए मिले हैं जो सीधे उनके खाते में डाल दिए गए हैं। खाद्य विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि गत खरीफ विपणन वर्ष में किसानों से 4,27,652 मीट्रिक टन धान समर्थन मूल्य पर खरीदा गया। अब तक 98% (4,18,656 मीट्रिक टन) धान का उठाव कर लिया गया है। बारिश के मौसम को देखते हुए प्रभारी मंत्री ने ज़ोर दिया कि अगले एक सप्ताह में समितियों से उठाव सुनिश्चित कर लिया जाए। इस बार ज़िले में 80,204 मीट्रिक टन धान की नीलामी की गई, जिसमें 76,897 मीट्रिक टन धान का उठाव कर लिया गया है । शेष धान का उठाव भी जल्द कराने के निर्देश कैबिनेट मंत्री ने दिए।
आगामी बारिश के मौसम को देखते हुए प्रभारी मंत्री श्री लखमा ने आयुक्त नगरपालिक निगम धमतरी को निर्देशित किया है कि वे नगरीय क्षेत्रों में अभियान चलाकर सभी नाली और नालों की सफाई करा लें, ताकि पानी जमाव की समस्या ना हो। इस मौके पर लोक निर्माण, आदिवासी विकास, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क, जल संसाधन सहित अन्य विभागों की गतिविधियों की समीक्षा भी की गई। प्रभारी मंत्री ने बैठक के अंत में सभी विभागीय अधिकारियों को आपसी सामंजस्य से शासन की महत्ती योजनाओं को मैदानी स्तर पर क्रियान्वित करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान विधायक सिहावा डॉ.लक्ष्मी ध्रुव, धमतरी विधायक श्रीमती रंजना साहू, महापौर नगरपालिक निगम धमतरी श्री विजय देवांगन, ज़िला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कांति सोनवानी, उपाध्यक्ष श्री निशु चंद्राकर, श्री शरद लोहाणा, पुलिस अधीक्षक श्री बी. पी. राजभानू सहित अन्य ज़िला स्तरीय अधिकारी और वीसी के ज़रिए एसडीएम सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारी बैठक में मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *