दो पर्यवेक्षक सस्पेंड,उच्च शिक्षा मंत्री के निर्देश पर ऑब्ज़र्वर और प्राचार्य पर भी हुई कार्यवाही,यह है मामला

रायपुर।18 सितंबर को हुई शिक्षक पात्रता परीक्षा में परीक्षार्थी धनंजय चौहान ने रायगढ़ के परीक्षा केंद्र नंदेली में परीक्षा केंद्राध्यक्ष और डयूटीरत शिक्षकों पर परीक्षा में नकल कराए जाने के गंभीर आरोप लगाए थे। शिकायतकर्ता ने इसकी शिकायत कलेक्टर रायगढ़ व जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ से भी की थी। गृह ग्राम नंदेली के परीक्षा केंद्र में नकल कराए जाने की शिकायत के संज्ञान में आते ही उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने जिला शिक्षा अधिकारी आर.पी.आदित्य को शिकायत जांच के सख्त निर्देश दिए थे। जिस पर डीईओ आदित्य ने विगत दिनों परीक्षा केंद्र स्थल नंदेली पहुंच कर प्रकरण की गंभीरता से जांच प्रारंभ की थी।

नकल कराए जाने की शिकायत पर जिला शिक्षा अधिकारी आदित्य द्वारा अपनी जांच पूरी की गई। जांच में दोषी पाए जाने पर संबंधितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अनुशंसा करते हुए अपनी जांच रिपोर्ट कलेक्टर रायगढ़ को सौंपी गई थी। जांच में दोषी पाए गए संबंधितों पर कलेक्टर रायगढ़ के अनुमोदन पश्चात कड़ी कार्यवाही की गई है। नंदेली परीक्षा सेंटर के ऑब्ज़र्वर उत्तरा कुमार सिदार के खिलाफ कलेक्टर जिला रायगढ़ के द्वारा आयुक्त, उच्च शिक्षा विभाग इंद्रावती भवन अटल नगर नवा रायपुर को संबंधित के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किए जाने हेतु पत्र जारी किया गया है। जांच में ऑब्जर्वर उत्तरा कुमार सिदार को नकल प्रकरण, प्रोफार्मा-03 में तैयार किए जाने के बावजूद भी, व्यापम छत्तीसगढ़ रायपुर को जानकारी नहीं भेजने संबंधी कृत्य में संलिप्त होना पाया गया है।

मदन कुमार पटेल प्रभारी प्राचार्य/केंद्राध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही करते हुए कलेक्टर जिला रायगढ़ के द्वारा संचालक, लोक शिक्षण संचालनालय नवा रायपुर को संबंधित की एक वार्षिक वेतन वृद्धि असंचयी प्रभाव से रोके जाने हेतु पत्र जारी किया गया है। मदन कुमार पटेल (केंद्राध्यक्ष) के द्वारा नकल प्रकरण बनाने एवं परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षक बदलने आदि की जानकारी उच्चाधिकारियों को नहीं दी गई और ना ही, नकल प्रकरण जो प्रोफॉर्मा-3 में तैयार की गई थी उसे पंजीबद्ध कर व्यापम छत्तीसगढ़ रायपुर को भेजा गया। केंद्राध्यक्ष मदन कुमार पटेल द्वारा तथ्य को छुपाते हुए नकल प्रकरण को दबाए जाने की पुष्टि होना पाया गया है। वहीं पर्यवेक्षक सुनीता एक्का के खिलाफ कार्यवाही करते हुए कलेक्टर जिला रायगढ़ के द्वारा संचालक, लोक शिक्षण संचालनालय नवा रायपुर को संबंधित को तत्काल प्रभाव से निलंबित किए जाने हेतु पत्र जारी किया गया है।

पर्यवेक्षक सुनीता एक्का द्वारा परीक्षा के दौरान बार-बार परीक्षार्थी भुनेश्वर चौधरी एवं प्रियंका पटेल, संदिग्ध परीक्षार्थियों से बात करना, सामग्री का आदान प्रदान करना जो कि पर्यवेक्षक के कर्तव्य के विपरीत होने जैसे कृत्य की पुष्टि होना पाया गया व इनके द्वारा नकल प्रकरण प्रोफार्मा-3 में हस्ताक्षर किए जाने के पश्चात भी बयान में जानकारी छुपाए जाने के कृत्य की पुष्टि हुई है। वहीं पर्यवेक्षक राजेंद्र पटेल, सहायक शिक्षक एलबी पर कार्यवाही करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ द्वारा कलेक्टर के अनुमोदन पश्चात इन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। पर्यवेक्षक राजेंद्र पटेल के द्वारा परीक्षा के दौरान बार-बार परीक्षार्थी भुनेश्वर चौधरी व प्रियंका पटेल, संदिग्ध परीक्षार्थियों से बात करना, सामग्री का आदान प्रदान करना जो कि पर्यवेक्षक के कर्तव्य के विपरीत होने जैसे कृत्य की पुष्टि होना व नकल प्रकरण प्रोफार्मा-3 के भराए जाने के पश्चात भी बयान में जानकारी छुपाए जाने जैसे कृत्य की पुष्टि होना पाया गया है।

विदित हो कि परीक्षार्थी प्रियंका पटेल के द्वारा परीक्षा के द्वारा अनुचित साधन का उपयोग करने के फलस्वरूप नकल प्रकरण प्रोफार्मा-3 बनाया गया, जिसकी प्रति संलग्न कर संबंधित के विरुद्ध नकल प्रकरण अंतर्गत कार्यवाही किए जाने हेतु कलेक्टर जिला रायगढ़ के द्वारा सचिव, व्यवसायिक परीक्षा मंडल रायपुर को संबंधित के विरुद्ध नकल प्रकरण अंतर्गत कार्यवाही करने हेतु पत्र जारी किया गया है तथा भुनेश्वर चौधरी जो कि जुलाई 2022 से उच्च वर्ग शिक्षक के पद पर पदस्थ हैं, जिनके द्वारा पूर्व माध्यमिक टेट परीक्षा-2019 में उत्तीर्ण कर लिया गया था, उनके द्वारा पुन: 2022 की टेट परीक्षा में सम्मिलित होने की आवश्यकता नहीं थी, बावजूद इसके द्वारा परीक्षा में सम्मिलित होकर परीक्षार्थी प्रियंका पटेल को नकल सामग्री प्रेषित किए जाने की पुष्टि होने के फलस्वरूप जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ द्वारा कलेक्टर के अनुमोदन से संयुक्त संचालक, शिक्षा संभाग सरगुजा एवं जिला शिक्षा अधिकारी जशपुर को संबंधित के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किए जाने हेतु पत्र जारी किया गया है।

उल्लेखनीय है कि टेट परीक्षा 2022 में नंदेली सेंटर में नकल कराए जाने संबंधी शिकायत की जांच आर.पी.आदित्य जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़, ड़ी.अग्रवाल सहायक संचालक कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़ एवं एस.के.कर्ण नोडल अधिकारी छात्रवृत्ति के द्वारा की जा रही थी। जिसके अंतर्गत दिनांक 21 सितंबर 2022 को स्थल परीक्षण करते हुए टेट परीक्षा से संबंधित दस्तावेज संग्रहित करते हुए परीक्षा केंद्राध्यक्ष, पर्यवेक्षक एवं शिकायतकर्ता के लिखित बयान लिए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *