मेरा बिलासपुर

CG NEWS : कुलपति प्रो. चक्रवाल से छत्तीसगढ़ के प्रिंसिपल अकाउंटेंट जनरल ने की मुलाकात, कई परियोजनाओं पर करेंगे साथ काम

स्वावलंबी छत्तीसगढ़ के अंतर्गत प्रशिक्षित होंगे विद्यार्थी- प्रो. चक्रवाल

बिलासपुर। गुरू घासीदास विश्वविद्यालय (केन्द्रीय विश्वविद्यालय) के  कुलपति  प्रोफेसर आलोक कुमार चक्रवाल से रविवार को छत्तीसगढ़ के भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा विभाग के प्रिंसिपल अकाउंटेंट जनरल (ऑडिट)  यशवंत कुमार (आईए एंड एएस) ने सौजन्य मुलाकात की। दोनों पक्षों ने शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की वितरण प्रणाली, प्रबंधन, संचालन आदि को प्रभावी बनाने पर परस्पर सहयोग एवं परियोजनाओं पर साझा काम करने पर चर्चा की। इस अवसर पर कुलसचिव प्रो. मनीष श्रीवास्तव भी उपस्थित रहे।

सौजन्य भेंटवार्ता के दौरान कुलपति प्रो. चक्रवाल ने केन्द्रीय विश्वविद्यालय द्वारा प्रारंभ की गई स्वावलंबी छत्तीसगढ़ परियोजना के विषय में जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि हमारे विद्यार्थी प्रतिभावान, मेहनती, कर्मठ और संकल्पशील है जो किसी भी संस्था के लिए भविष्य की संपत्ति साबित होंगे। उन्होंने कहा कि दोनों संस्थानों के परस्पर सहयोग से हमारे विद्यार्थियों को सजीव रूप से व्यावहारिक लेखा गतिविधियों की जानकारी मिलेगी साथ ही उनकी कार्यकुशलता में वृद्धि होगी।
कुलपति प्रो. चक्रवाल ने कहा कि वाणिज्य, अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान के विद्यार्थियों, शोधार्थियों और शिक्षकों को विभिन्न योजनाओं की वितरण प्रणाली, प्रबंधन, संचालन आदि को समझने के साथ ही उन्हें त्रुटिमुक्त बनाने में लेखा परीक्षा विभाग से सहयोग मिलेगा। शासन की विभिन्न परियोजनाओं पर साथ-साथ कार्य एवं सहयोग करने पर दोनों के बीच सहमति बनी। उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले वर्षों में विद्यार्थियों को सैद्धांतिक के साथ व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त होगा जिससे उनकी रोजगारपरकता में वृद्धि होगी।
छत्तीसगढ़ के भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा विभाग के प्रिंसिपल अकाउंटेंट जनरल (ऑडिट) श्री यशवंत कुमार (आईए एंड एएस) ने शासन की विभिन्न नीतियों और उनके क्रियान्वयन में उच्च शिक्षण संस्थानों की भूमिका को अहम बताया। उन्होंने कहा कि कुलपति प्रो. चक्रवाल के सशक्त नेतृत्व में गुरु घासीदास विश्वविद्यालय अकादमिक गतिविधियों में निरंतर प्रगति कर रहा है। यहां के विभिन्न विभागों के विद्यार्थियों को जागरुक एवं उद्यमिता संपन्न बनाने लिए उन्हें परियोजनाओं गतिविधियों से जोड़ना बेहतर विकल्प है। उन्होंने उम्मीद जताई कि आने वाले समय में लेखा परीक्षा विभाग और केन्द्रीय विश्वविद्यालय संयुक्त रूप से परियोजना पर कार्य करेंगे।
कुलपति प्रो. चक्रवाल ने उन्हें विश्वविद्यालय में अधोसंरचना विकास, सौर ऊर्जा के साथ अकादमिक गतिविधियों के विषय में भी विस्तार से जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर कुलपति ने  यशवंत का स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मान किया ।

कोरोनाःसेन्ट फ्रांसिस स्कूल का तुगलकी फरमान ..खतरे में बच्चों की जिन्दगी..अभिभावकों के उड़े होश..डीईओ ने कहा...स्कूल को देना होगा जवाब
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS