मेरा बिलासपुर

CG Vidhansabha: संविदा कर्मियों के नियमितीकरण का मामला विधानसभा में गूँजा,मंत्री TS सिंहदेव ने दिया यह जवाब़

CG Vidhansabha – मंगलवार को संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण का मामला मंगलवार को सदन में गूंजा। कर्मचारियों के नियमितीकरण को लेकर भाजपा (BJP)विधायक शिवरतन शर्मा(Shivratan Sharma) के सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (TS Singhdeo) ने कहा कि आने वाले बजट या अनुपूरक बजट(Anupurak Budget) में समाहित करने की कोशिश की जाएगी। इसे लेकर भाजपा (BJP) के विधायकों ने जोरदार हंगामा किया।

भाजपा सदस्य शिवरतन शर्मा (Shivratan Sharma)ने कहा कि 17611 अनियमित और संविदा कर्मचारियों के परिवार का मामला है। इस पर जवाब आना चाहिए। उन्होंने नियमित करने के लिए समय सीमा पूछी। मंत्री ने कहा कि घोषणा पत्र में प्रावधान किया गया था। इसके आधार पर सभी विभागों से शासन स्तर पर जानकारी मंगाई जा रही है। विभाग की तरफ से भी मांग गई है कि इन्हें नियमित करना है। वित्तीय प्रबंधन के हिसाब से शासन विचार कर रहा है।

भाजपा सदस्य ने पूछा कि समय सीमा बताएंगे क्या? मंत्री ने कहा कि समय सीमा आने वाला बजट या उसमें समाहित नहीं होता तो अनुपूरक बजट में कोशिश करेंगे। बृजमोहन अग्रवाल(Brijmohan Agrawal) ने कहा कि नियमितीकरण की मांग को लेकर कर्मचारी सड़कों पर हैं। सरकार का काम प्रभावित हो रहा है। राज्यपाल के अभिभाषण में सम्मिलित किया है। कर्मचारियों के साथ सरकार वादाखिलाफी कर रही है।

बता दे कि मंगलवार को DMF की राशि से लाइवलीहुड कॉलेज को 18 करोड़ रुपए के भुगतान का मामला उठा था। इस दौरान विपक्ष के विधायकों ने सदन की कमेटी से जांच कराने की मांग रखी। विधानसभा स्पीकर डॉ. चरणदास महंत ने आसंदी से परीक्षण कराने का निर्देश दिया।

एसीबी का 9 अधिकारियों के 18 ठिकानों पर छापा

भाजपा विधायक सौरभ सिंह ने लाइवलीहुड कॉलेज जांजगीर और रोजगार कार्यालय को तीन साल में भुगतान के मुद्दे पर जानकारी मांगी। मंत्री ने बताया कि लाइवलीहुड कॉलेज में 18.23 करोड़ का भुगतान हुआ है। इसके जरिए 17874 लोगों को प्रशिक्षण दिया गया है। सौरभ सिंह ने आरोप लगाया कि 300 लोगों को प्रशिक्षण दिया गया है।
उन्हीं के नाम सभी जगह पर हैं।

मधुमक्खी प्रशिक्षण के नाम पर 52 लाख रुपए के भुगतान पर भाजपा के सदस्यों ने सवाल किया। नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा कि पूरे छग में डीएमएफ का सुनियोजित ढंग से दुरुपयोग हो रहा है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS