हमार छ्त्तीसगढ़

CG STRIKE : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अब आरपार लड़ाई की तैयारी में, 23 जनवरी से बंद करेंगे आगनबाड़ी केन्द्र

मांगों के लेकर शुरू होगा बेमुद्दत धरना - प्रदर्शन

बिलासपुर । छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संयुक्त मंच ने अपनी मांगों को लेकर आने वाले 23 जनवरी 2023 से सभी आँगनबाड़ी केन्द्रों को बंद कर बेमुदद्त धरना प्रदर्शन शुरू करने का आह्वान किया है। इस आंदोलन की बड़े पैमाने पर तैयारियां की ज़ा रहीं हैं।
एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संयुक्त मंच के आह्वान पर पंजीकृत संघो के द्वारा आरपार की लड़ाई शुरू करने का फ़ैसला किया गया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता छत्तीसगढ़ सरकार के रवैये से त्रस्त (दु:खी) हैं और विधानसभा चुनाव 2018 में जारी जनघोषणा पत्र के अनुसार राज्य सरकार सरकारी कर्मचारी घोषित करते हुए प्रदेश के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/मिनी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को कलेक्टर दर पर वेतन और नर्सरी स्कूल शिक्षक का दर्जा देने की माँग कर रहे हैं। आज छत्तीसगढ़ सरकार चार साल पूरे होने के बाद भी अपने जनघोषणा पत्र में किए गए वादे को अनदेखी कर रही है , यह सरकार के असंवेदनशीलता की निशानी है।
उनका कहना है कि प्रदेश के लगभग एक लाख से अधिक संख्या में कार्यरत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/ मिनी कार्यकर्ता/ सहायिकाओं के सब्र का बांध टूटते नज़र आ रहा है । अब सरकार पर भरोसा नहीं हो रहा है । क्योंकि पिछले चार साल में कई बार मुख्यमंत्री, जनघोषणा पत्र के प्रभारी और महिला एवं बाल विकास केबिनेट मंत्री ,महिला एवं बाल विकास विभाग संसदीय सचिव (राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त) से साथ ही नेता प्रतिपक्ष,लगभग सभी विधायकों से हमारे प्रतिनिधि मंडल मिले । लेकिन आजतक सरकार द्वारा संज्ञान नहीं लिया गया । जिस पर आक्रोशित कार्यकर्ता सहायिकाओं ने 23 जनवरी 2023 से प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केंद्र को बंद कर अनिश्चितकालिन धरना प्रदर्शन करने की व्यापक तैयारियां शुरू कर दी हैं।अब आरपार की लड़ाई है । जिसे और तेज किया जा रहा है।

टिड्डी दल-महाराष्ट्र के तुमसर से खैरलांजी बालाघाट की ओर से राजनांदगांव-कबीरधाम जिले में पहुंचने की संभावना,मैदानी अमले को अलर्ट रहने के निर्देश
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS