CGMSC की दवाई खरीदी में भारी घपला…. सिंहदेव ने CBI जाँच कराने मुख्यमंत्री को लिखी चिट्ठी

रायपुर  । छत्तीसगढ़ में दवाई खरीदी के लिए बनाई गई संस्था छत्तीसगढ़ स्टेट मेडिकल सर्विसेज कारपोरेशन सीजी एमएससी की ओर से दवाई खरीदी में किए गए भ्रष्टाचार का मामला गरमाता जा रहा है ।  इस सिलसिले में छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव ने मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह को एक चिट्ठी लिखी है ।  जिसमें उन्होंने पूरे मामले का ब्यौरा देते हुए गंभीर अनियमितता और भ्रष्टाचार  की सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की है ।

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में श्री सिंह देव ने लिखा है कि सी जी एम एस सी द्वारा आर्थिक भ्रष्टाचार के मामले सामने आए हैं ।  जिसमें ब्लैक लिस्टेड कंपनियों से दवाई की खरीदी , गुणवत्ताहीन और कालातीत होने वाली दवाइयों की खरीदी सहित वित्तीय वर्ष के समाप्ति के समय आनन फानन में दवाइयों की खरीदी में कमीशनखोरी और घूसखोरी के मामले सामने आए हैं ।  जिससे मंत्रालय से लेकर पूरा स्वास्थ्य विभाग ही सवालों के घेरे में है ।  हाल ही में कारपोरेशन के जनरल मैनेजर को एसीबी ने लाखों रुपए की घूस लेते हुए गिरफ्तार किया था।  यह पूरे मामले की पुष्टि करता है ।  इस बात से इन्कार नहीं किया जा सकता कि भ्रष्टाचार का स्वरूप और भी व्यापक हो सकता है ।  श्री सिंहदेव ने अपनी चिट्ठी में इस बात का भी जिक्र किया है कि प्रदेश में हुए नसबंदी कांड के दौरान गुणवत्ताहीन दवाइयों के इस्तेमाल से दर्जनों महिलाओं की असामयिक मृत्यु हुई थी।  इस मामले में आज तक दोषियों पर कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है ।  ऐसी घटनाओं से सबक ना लेते हुए फिर से ऐसे मामले सामने आ रहे हैं  । जिससे सरकार की गंभीरता का अनुमान लगाया जा सकता है  ।

उन्होंने अपनी चिट्ठी में इस ओर भी इशारा किया है कि एक तरफ आम नागरिकों को रियायती दर पर इलाज की सुविधाएं प्राप्त नहीं हो पा रही हैं । और दूसरी तरफ राज्य सरकार सरकारी अस्पतालों को पीपीपी मॉडल के जरिए प्राइवेट कंपनियों को देने की अलग व्यवस्था कर रही है  ।जो कि औचित्यहीन है श्री सिंह देव ने  सीजीएमएससी द्वारा दवाई खरीदने में लगातार हो रहे करोड़ों रुपए के घोटाले की निष्पक्ष जांच सीबीआई से कराने की मांग की है ।  ताकि दवाई खरीदने में खरीदी में पारदर्शिता और विश्वसनीयता बरकरार रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *