नौकरी लगाने के नाम पर दोस्त ने किया विश्वासघात ..11 महीने बाद गिरफ्तार..न्याायालय में पेश

BHASKAR MISHRA
3 Min Read
बिलासपुर—–सिविल लाइन पुलिस ने 11 महीने से फरार 420 के आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने खुद को बालको प्लांट में इंजीनियर बताकर बालको प्लांट में नॉकरी लगाने का झांसा दिया। इसके लिए आरोपी ने दोनों पीड़ितों से 90 हजार रुपये की ठगी किया। एफआईआर के बाद आरोपी फरार था।पुलिस ने आरोपी को कोरबा में तीन बार दबिश देने के बाद हुआ गिरफ्तार किया है।
                       सिविल लाइन पुलिस के अनुसार प्रार्थी दीपेश अग्रवाल पिता बाल गोविंद अग्रवाल सिविल लाइन में उपस्थित होकर ठगी की लिखित शिकायत की। प्रार्थी ने बताया कि वह आरोपी अनिल गुप्ता दोनों चौकसे इंजीनियरिंग कॉलेज में साथ पढ़ें हैं। अनिल गुप्ता उसका अच्छा मित्र रहा है। पढ़ाई पूरी करने के बाद अनिल गुप्ता अपने घर चला गया। जनवरी 2019 में मोबाइल व्हाट्सएप में हम दोनों की बात हुई। अनिल गुप्ता अपने आप को बालको प्लांट में इंजीनियर के पद पर होना बताया। साथ में बालकों प्लांट के आलाधिकारियों से अच्छा संबन्ध होना भी बताया।
 
           बातचीत के दौरान अनिल ने कहा कि वह अच्छे पद पर नॉकरी लगवा सकता है। इसके लिए कुछ रूपए खर्च करने पड़ेंगे। बातों में विश्वास करके 45 हजार रुपये उसके खाता में डाल दिया। बीच बीच में अनिल गुप्ता से पूछता भी रहा कि नॉकरी कब लगेगी। हर बार अनिल गुप्ता बोला कि प्रोसेस में है। जल्द ही नौकरी मिल जाएगी। इसके बाद उसने मोबाइल बन्द कर दिया। 
 
               अपनी शिकायत में प्रार्थी ने बताया कि अनिल गुप्ता को श्रीकांत वर्मा मार्ग स्थि एसबीआई बैंक से ट्रांसफर किया है। अनिल गुप्ता मुझे नौकरी लगाने का झांसा देकर 45000 ले लिए है। पुलिस ने प्रार्थी की शिकायत पर आईपीसी की धारा 420 का अपराध पंजीबद्ध किया।
 
                    आरोपी ने पीड़ित यादराम जायसवाल को भी अपने विश्वास में लेकर बालको में नॉकरी लगाने के नाम पर 45 हजार ले लिया है। एफआईआर दर्ज होने की खबर के बाद आरोपी फरार हो गया। पुलि सने लगातार दबिश देकर आरोपी अनिल गुप्ता को 11 माह बाद गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद पूछताछ के दौरान अनिल गुप्ता ने बताया कि दीपेश अग्रवाल और  यादराम से लिए गए रूपये खर्च हो गए हैं। उसके पास अब एक रूपया भी नहीं है। बहरहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय के सुपुर्द कर दिया है।
TAGGED: ,
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close