मेरा बिलासपुर

वाह रे दुनिया..सीए पति ने किया फर्जीवाड़ा..पत्नी का फर्जी हस्ताक्षर कर लिया 12 लाख लोन…रायपुर में पकड़ाया आरोपी

फर्जीवाड़ा कर 12 लाख की ठगी..बिना जानकारी पत्नी को बनाया लोन में सहयोगी

बिलासपुर—पत्नी के नाम पर फर्जी हस्ताक्षर और दस्तावेज के सहारे लाखों की ठगी का मामला सामने आया है। करीब आठ साल से पति और पत्नी अलग- अलग रहते हैं। पति ने पत्नी का फर्जी हस्ताक्षर कर बैंक से 12 लाख लोन लिया। मामले की जानकारी के बाद पत्नी ने पति के खिलाफ सिविल लाइन पुलिस में अपराध कराया। शिकायत के बाद पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 
 
सिविल लाइन थाना प्रभारी परिवश तिवारी ने बताया कि विद्यानगर निवासी रत्ना गुप्ता दिल्ली में रहती है। तीन महीने पहले रत्ना गुप्ता ने सिविल लाइन में पति के खिलाफ धोखाधड़ी और ठगी का अपराध दर्ज कराया। रत्ना गुप्ता ने शिकायत में बताया कि पिछले आठ साल से पति शंकर लाल गुप्ता से अलग दिल्ली में रहती है। पति से उसका कोई रिश्ता नहीं है। लेकिन दोनो का आईसीआईसीआई बैंक में  संयुक्त खाता है।
 
         रत्ना ने बताया कि एक दिन बैंक से जानकारी मिली कि पति शंकर लाल गुप्ता ने 18 जून 2021 में ज्वाइंट अकाउन्ट से 12 लाख रूपए लोन लिया। बैंक के अनुसार किश्त की अदायगी नहीं की गयी है। बैंक को बताया कि उसे लोन लिए जाने की कोई जानकारी नहीं है। पुलिस ने रत्ना गुप्ता की शिकायत पर अपराध दर्ज किया। पीड़ित पत्नी ने बताया कि आरोपी पति ने उसका फर्जी हस्ताक्षर और दस्तावेज तैयार कर लोन लिया है। दस्तावेज में पासपोर्ट की छायाप्रति भी जमा किया है। पेशे से सीए शंकर लाल गुप्ता जगदलपुर और रायपुर में काम करता है।
 परिवेष तिवारी  ने बताया कि शिकायत के बाद पतासाजी के दौरान जानकारी मिली कि आरोपी शंकर लाल गुप्ता रायपुर में है। मामले में कई बार पकड़ने का प्रयास किया गया। लेकिन हाथ नहीं लगा। मुखबीर की सूचना पर आरोपी को रायपुर में धर दबोचा गया है।

अमर बोले बिलासपुर के ऊपर जल्द दिखेगा हवाई जहाज,तोरवा धान मंडी सड़क शुरू होने से कम होगा ट्रैफिक दबाव
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS