Chhattisgarh:जांजगीर में PM मोदी बोले-छत्तीसगढ़ ने दी हमेशा स्थिर सरकार,CM रमन की जमकर तारीफ

जांजगीर।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को छत्तीसगढ़ के जांजगीर चाम्पा में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की दो परियोजनाओं, बिलासपुर-पथरापाली 4 लेन सड़क का शिलान्यास और सरगांव-बिलासपुर 4 लेन सड़क का लोकार्पण किया।साथ ही बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी लाइन का शिलान्यास किया गया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जांजगीर में विशाल सभा को संबोधित किया और इसकी शुरुआत हुए छत्तीसगढ़ी में की। मोदी ने कहा कि आज छत्तीसगढ़, झारखंड, उत्तराखंड राज्यों का निर्माण यह दर्शाता है कि विकास के मामले में आदरणीय अटल जी की सोच कितनी दूरगामी थी। छत्तीसगढ़ आज देश के सबसे प्रगतिशील राज्यों में शुमार हो गया है।उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता इतनी समझदार है कि उन्होंने कभी भी सही निर्णय लेने में गलती नहीं की। अफवाहों औरआशंकाओं के बीच में न छत्तीसगढ़ का मन हिला जिसका परिणाम है लगतार छत्तीसगढ़ ने स्थिर सरकार दी।

पीएम मोदी ने कहा कि डॉ रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के उज्जवल भविष्य के लिए, छत्तीसगढ़ को आधुनिक बनाने के लिए और ताकतवर बनाने के लिए भरसक प्रयास किए हैं।राज्य नहीं बनता तो एमपी के किसी कोने में पड़े रहते लेकिन आज छत्तीसगढ़ अपनी इच्छा के मुताबिक निर्णय ले रहा है।प्रधानमंत्री ने डॉ रमन सिंह की जमकर तारीफ की।उन्होंने कहा कि हम वोट बैंक की राजनीति में यकीन नहीं रखते. जो हमे वोट देगा सिर्फ उसका विकास नहीं होगा. हमे सबके सपनों का देश बनाना है. हमे छत्तीसगढ़ के युवाओं, माताओं बहनों बुज़ुर्गों के सपनों का ।

उन्होंने कहा कि एक प्रधानमंत्री ने कहा था कि दिल्ली से भेजे जाने वाले एक रु में से सिर्फ 15 पैसा ही गरीब तक पहुंचता है। ये कौन सा पंजा था जो 1 रूपये को 15 पैसा बना देता था। पहले गरीब तक 15 पैसे पहुँचता था आज केंद्र सरकार से 100 प्रतिशत राज्य सरकार तक पहुंचता है।आज जो विकास हो रहा है उसका एक कारण यह भी है कि पहले रुपये में 15 पैसों का काम होता था लेकिन आज 100 पैसों का काम होता है।

श्री मोदी ने कहा कि आज़ादी के बाद से आज तक जितने घरों में गैस कनेक्शन थे, उससे ज़्यादा हमने पिछले चार सालों में दिया.क्या 21वीं सदी में गरीब को बिजली, पानी, सड़क का हक नहीं है? क्या गरीबों को इससे वंचित रखने के लिए पिछली सरकार ज़िम्मेदार नहीं?किसानों के सर्वांगीण के लिए हमने वैज्ञानिक दृष्टिकोण के साथ बीज से लेकर बाज़ार तक की बेहतर व्यवस्था की. इसी कारण आज देश के अन्नदाताओं ने आज़ादी के बाद से सर्वाधिक फसल उपजा कर एक नया रिकॉर्ड कायम किया है।पीएम ने  सरकार की ओर से किसानों की मदद और विकास के लिए हो रहे प्रयासों का विस्तार से बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *