आदिवासी विधायक बृहस्पत सिंह के आरोपो पर बोले TS सिंहदेव-जनता मुझे जानती है

Shri Mi
3 Min Read

रायपुर।छत्तीसगढ़(Chhattisgarh) के आदिवासी नेता और कांग्रेस विधायक बृहस्पत सिंह(Brihaspat Singh) ने स्वास्थ्य मंत्री TS Singhdeo पर हमला कराने का आरोप लगाया था. लेकिन विधायक की बैठक के बाद मंत्री TS Singhdeo और विधायक बृहस्पत सिंह (Brihaspat Singh) एक साथ नजर आए. अब मंत्री TS Singhdeo का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि अभी ज्यादा कुछ कहना सही नहीं होगा. ऐसा उन्होंने भावनाओं में आकर कह दिया होगा. मंत्री सिंहदेव ने यह बयान कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद दिया है.मंत्री TS Singhdeo ने कहा कि सरगुजा के लोग जानते हैं, क्या कैसे रहे हैं. जनता मुझे जानती है. उन्होंने कहा कि हो सकता है बृहस्पति सिंह (Brihaspat Singh) को मुझसे नाराजगी हो. बाबा लोगों के लिए जो मदद कर सकते हैं, वो करते रहेंगे. सब समय के हिसाब से देखें. कोई भी बात सामने आती है, तो उसका निराकरण भी होता है. पुनिया (PL Punia) जो कहेंगे वही होगा. मुझे दिल्ली में कहा जाएगा, तो वहां भी बताउंगा. मैं इस मसले पर ज्यादा कुछ नहीं कहूंगा.उन्होंने कहा कि मेरी छवि भी सार्वजनिक है. बाप-दादाओं ने क्या कुछ किया वो सभी जानते होंगे. मुख्यमंत्री(CM) पद को लेकर उन्होंने कहा कि मैं इस पर कोई कमेंट नहीं करूंगा.

आदिवासी विधायकों को प्रताड़ित करने के आरोप पर कहा कि मैं कह नहीं सकता, लेकिन मेरे अनुभव में कभी ऐसा नहीं हुआ है.मुख्यमंत्री भूपेश बघेल(Bhupesh Baghel), प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, मंत्री टीएस सिंहदेव समेत कई मंत्रियों ने साथ में एक साथ बैठकर खाना भी खाया है. इस दौरान सभी एक दूसरे से चर्चा करते भी नजर आए. तस्वीरों को देखकर ऐसा लग रहा है कि कुछ हुआ ही नहीं है. आम दिनों की तरह ही सभी एक बातचीत करते दिखे.

यह भी पढ़े

बता दें कि विधायक कांग्रेस विधायक बृहस्पत सिंह (Brihaspat Singh) के काफिले पर बीती रात हमला हुआ था. जिसके बाद आज उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस कर मंत्री टीएस सिंहदेव पर गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा कि मुझे जान का खतरा है. मुझ पर हमले के पीछे मंत्री TS सिंहदेव का हाथ है. महाराजा हैं मेरी हत्या करा सकते हैं. हत्या कराने से अगर सिंहदेव मुख्यमंत्री बन सकते हैं तो उन्हें ये पद मुबारक़ हो. मंत्री सिंहदेव कांग्रेस विधायकों का अपमान करते हैं. उन्होंने कहा था कि ऐसे मंत्री को पद पर रहने का अधिकार नहीं है.

यह भी पढ़े
By Shri Mi
Follow:
पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close