Chhattisgarh Police की अवैध शराब पर बड़ी कार्रवाई,अंतरराज्यीय शराब तस्करी के पांच आरोपी गिरफ्तार,चंडीगढ़ में बनी 380 पेटी अंग्रेजी शराब जब्त

आईके ऐलसेला,पुलिस अधीक्षक,बालोद (Balod),एमएल कोटवानी ,भारतीय पुलिस सेवा (IPS),Recruitment,process,begins,police department,chhattisgarh,cg police

रायपुर।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा अवैध शराब पर सख्त कार्रवाई के निर्देश के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है। पुलिस ने मंदिर हसौद के ग्राम दरबा में छापा मारकर करीब 13 लाख कीमत की 340 पेटी और पिकअप से 40 पेटी अंग्रेजी शराब जब्त की है। कार्रवाई में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, साथ ही एक पिकअप जब्त की गई है।उल्लेखनीय है कि डीजीपी डीएम अवस्थी ने दो दिन पहले ही सभी पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर अवैध शराब भंडारण और परिवहन पर सख्ती के निर्देश दिए थे। इसके बाद प्रदेश भर में पुलिस ने अवैध शराब पर रोक लगाने छापामार कार्रवाई शुरू की। इसी कड़ी में महासमुंद जिले की बागबाहरा थाना पुलिस को सूचना मिली की रायपुर की ओर से अवैध शराब से भरी पिकअप आ रही है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप न्यूज़ ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए

पुलिस ने तत्काल घेराबंदी कर पांच आरोपियों सहित पिकअप को जब्त कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि यह शराब रायपुर मंदिरहसौद ब्लाक के ग्राम दरबा के सरपंच पति सनत पटेल के बाड़ा के कमरे में छिपा कर रखी गई थी और चंडीगढ़ की उक्त शराब में लगभग 340 पेटी अंग्रेजी शराब अभी वहां पर रखी हुई है। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर उक्त स्थान पर छापा मारकर 340 पेटी शराब बरामद कर जप्त किया ली।

महासमुंद पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ल ने बताया कि सूचना मिली थी कि रायपुर की ओर से कुछ लोग भारी मात्रा में अवैध शराब पिकअप में भरकर होली त्यौहार के समय खपाने के उद्देश्य से महासमुंद जिले के ग्राम सुखरीबडरी ले जा रहे है। उक्त सूचना के आधार पर रेड कार्यवाही की गई जिसमें पांच आरोपी बजरंग सिंह फूल चौक रायपुर, नरेश कुमार  कोटा रायपुर, समर ध्रुव मंदिर हसौद रायपुर, प्रदीप बाघ सरस्वती नगर रायपुर और अखिलेश मंदिरहसौद को गिरफ्तार किया गया है।

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी अंजनेय वार्ष्णेय भापुसे, उनि संजय सिंह राजपूत, सोनचंद्र डहरिया, घनश्याम भारद्वाज, आरक्षक हिरालाल अकोनिया, आरक्षक टोप सिंग ध्रुवे, महेत्तरू साहू, भूपेन्द्र चन्द्राकर, विरेन्द्र तिवारी का विशेष योगदान रहा।

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *