कलेक्टर SP ने कड़ेनार में ईमली पेड़ के नीचे लगायी चौपाल,प्राथमिक शाला का किया निरीक्षण

नारायणपुर-कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी एवं पुलिस अधीक्षक गिरजाशंकर जायसवाल ने आज घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र कड़ेनार में ईमली पेड़ के नीचे बैठकर चौपाल लगायी और ग्रामीणों की समस्याओं को ध्यान से सुना। इस दौरान कलेक्टर रघुवंशी ने गांव में शिक्षा के स्तर की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि गांव का हर बच्चा स्कूल जाये, ये माता-पिता की नैतिक जिम्मेदारी है। विद्यालय में शिक्षा के साथ-साथ उसे मध्यान्ह भोजन, शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत् निःशुल्क पाठयपुस्तक, गणवेश, छात्रवृत्ति आदि का लाभ मिल सकेगा। इसके साथ ही कलेक्टर ने गांव में जल जीवन मिशन अंतर्गत प्रत्येक घर में शुद्ध पेयजल हेतु नल कनेक्शन प्रदान करने की बात कही। कलेक्टर श्री रघुवंशी ने कहा कि गांव में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने हेतु मनरेगा के तहत् कार्य रोजगारमूलक कार्य संचालित किये जाये ताकि गांव वालों को काम के लिए बाहर जाना न पड़े।

कलेक्टर ने ग्रामीणों से कहा कि क्षेत्र के विकास में आप सभी का सहयोग जरूरी है।ग्रामीणों ने अपनी प्रमुख समस्या से अवगत कराते हुए बताया कि कड़ेनार से मर्दापाल तक सड़क की अत्यंत आवश्यकता है। इस सड़क के बन जाने से ग्रामवासियों को बारहमासी आवागमन सुविधा मिल पायेगी, जिससे गांव के लोगों को शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ मिल सकेगा। इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चंद्राकर, रक्षित निरीक्षक दीपक साव के अलावा ग्राम के सरपंच श्री शंकर, पुलिस के अन्य अधिकारी एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने नक्सल प्रभावित क्षेत्र कड़ेनार के प्राथमिक और माध्यमिक शाला का निरीक्षण भी किया और वहां दर्ज बच्चों की संख्या, बच्चों को पढ़ाई जाने वाली पाठ्य सामग्री आदि के बारे पूछा। इस दौरान उन्होंने बच्चों को दिये गये मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता देखी। कलेक्टर ने कहा कि बच्चों को दिये जाने वाले मध्यान्ह भोजन गुणवत्तापूर्ण एवं शासन द्वारा निर्धारित मात्रा में हो इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये। इस दौरान अधिाकारियों ने शाला परिसर की खाली जगह में किचन गार्डन विकसित करने के निर्देश उपस्थित शिक्षक को दिये। अधिकारियों ने स्कूली बच्चों को टॉफी भी बांटी। इस मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चंद्राकर, रक्षित निरीक्षक दीपक साव के अलावा ग्राम के सरपंच शंकर, पुलिस के अन्य अधिकारी, शिक्षक एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *