हाईटेक बस स्टैण्ड जमीन पर नगर ग्राम निवेश की नजर..करोड़ों की है सम्पत्ति..आयुक्त ने बताया.. जानकारी नहीं..फिर इस प्रकार के पत्र आते रहते हैं

बिलासपुर— छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम के निर्देश पर संयुक्त संचालक नगर तथा ग्राम निवेश ने निगम प्रशासन निगम प्रशासन को एक पत्र लिखा है। संचालक ने पत्र में हाईटेक बस स्टैण्ड की खाली करोड़ो रूपयों की जमीन की मांग की है। बताया गया है कि यह जमीन सीएसआईडीसी ने हाईटेक बस स्टैण्ड को आवंटित किया था। बस स्टैण्ड निर्माण के बाद बची जमीन को सीएसआईडीसी को लौटाया जाए। मामले में निगम आयुक्त अजय त्रिपाठी का कहना है कि बहरहाल इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। 

                             कार्यालय संयुक्त संचालक नगर तथा ग्राम निवेश ने हाईटेक बस स्टैण्ड की खाली करोड़ों रूपए की जमीन की मांग निगम प्रशासन से किया है। संयुक्त संचालक नगर तथा ग्राम निवेश बिलासपुर ने निगम प्रशासन को भेजे गए पत्र में लिखा है कि औद्योगिक विकास के लिए हाईटेक बस को दिए गए बची जमीन की जरूरत है। यह जमीन औद्योगिक सेक्टर सी स्थित हाईटेक बस स्टैण्ड से लगा है। जमीन का खसरा नम्बर 1425, 1427, 1428, 1457, 1458, 1431, 1432, 1430, 1429 है। जमीन में कुल रकबा 92400 वर्ग फिट है। औद्योगिक विकास निगम ने जमीन पाने को लेकर निर्देश दिया है।

                   पत्र के माध्यम से संयुक्त संचालक ने बताया है कि इस समय यह जमीन बस स्टैण्ड के लिए आरक्षित है। भविष्य में यदि बतायी गयी जमीन पर निगम किसी प्रकार की योजना को अंजाम देना चाहता है तो इसकी जानकारी प्रदान करें। ताकि शासन को जमीन की उपयोगिता को लेकर जवाब दिया जा सके।

                  जानकारी देते चलें कि यह जमीन सीएसआईडीसी ने हाईटेक बस स्टैण्ड निर्माण के लिए था। बाद में कुछ जमीन रणनीति के तहत जिला प्रशासन ने खाली रखा। तात्कालीन कलेक्टर ने खाली जमीन में पार्किग निर्माण का एलान किया था। इसके अलावा तत्कालीन समय जिला प्रशासन ने कमर्शियल निर्माण का का भी जिक्र किया था। 

                 हाल फिलहाल उद्योगपतियों ने सरकार से उद्योग लगाने को लेकर जमीन दिए जाने की मांग की है। इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए सीएसआईडीसी ने हाईटेक बस स्टैण्ड की खाली जमीन को दुबारा  कब्जे में किए जाने को लेकर निगम को पत्र लिखा है।

आयुक्त ने बताया जानकारी नहीं

                पत्र को लेकर निगम कमिश्नर अजय त्रिपाठी ने बताया कि ग्राम निवेश से हमेशा पत्र का आना जाना होता है। हाईटेक बस स्टैण्ड की खाली जमीन को सीएसआईडीसी ने मांगा है। इस बात की उन्हें जानकारी नहीं है। नगर तथा ग्राम निवेश ने पत्र भेजा इस बात की भी उन्हें खबर नहीं है। फिलहाल पत्र को देखकर ही कुछ बताने की स्थिति में रहूंगा। खाली जमीन का उपयोग निगम के किस रूप में करेगा। इस बारे में बातचीत करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *