लिपिक नेताओं ने भेजा रिमांडर..दूर नहीं हुई पीड़ा..अब मंत्रालय का घेराव

बिलासपुर— छत्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ के नेता जिला अध्यक्ष सुनील यादव की अगुवाई में कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर सीएम और सचिव के नाम रिमाण्डर पत्र दिया। लिपिक कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार वेतन  विसंगति सुधार को लेकर किए गए वादा को पूरा करे।

                 छत्तीसगढ़ प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचार संघ के नेता आज जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। लिपिक संघ नेताओं ने सीएम और सचिव के नाम प्रशासन को मांग पत्र दिया। कर्मचारियों ने बताया कि शासन ने लगातार मांग के बाद लिपिकों के वेतन विसंगति को ठीक किए जाने का वादा किया था। वादा को आज तक पूरा नहीं किया गया।

                            लिपिक संघ जिला अध्यक्ष सुनील यादव ने बतााय कि जब तक सरकार मांग को पूरी नहीं करती है..आंदोलन चलता रहेगा। मुख्यमंत्री  लिपिकों की वेतन विसंगति को गंभीरता से लिया है। उन्होने मांग को गंभीरता से लेते हुए पूरा करने का एलान किया है। उन्हें भरोसा है कि मुख्यमंत्री जल्द ही वादा निभाएंगे। लेकिन वादा निभाने में उम्मीद से कही ज्यादा देरी हुई है।

              लिपिक कर्मचारियों ने फैसला किया है कि 17 फरवरी को प्रदेश के सभी लिपिक मांग को लेकर मंत्रालय पहुंचकर प्रदर्शन करेंगे। सरकार से वेतन विसंगति दूर करने की मांग को लेकर दबाव बनाएंगे।

                   सुनील यादव की अगुवाई में आज कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर सभी लिपिकों ने मांग के समर्थन में नारेबाजी की। इस दौरान धनेश ताम्रकार, चन्द्रमणि पाण्डेय, जितेन्द्र मिश्रा, हेमन्त बघेल, सूर्यप्रकाश कश्यप, विकास तिवारी, देवेन्द्र ठाकुर, सुमंत यादव, कैलाश सूर्यवंशी, पीएस सिदार, सागर चौबे, ज्ञानेद्र ठाकुर, देवेन्द्र पटेल, एकादशी पोर्ते, मनोज साहू, मुकेश लिल्हारे, सुदीप दत्ता, वर्षा रानी.चरण, राखी कौशिक, पुष्पा श्रीवास्तव, समेत भारी संख्या में लिपिक कर्मचारी गण मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *