हमार छ्त्तीसगढ़

CM भूपेश ने पाटन में गोधन न्याय योजना का शुभारंभ,गौठान में एक एकड़ में बनेगा ग्रामीण आजीविका केंद्र, नाम होगा रोजगार ठौर

दुर्ग।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज हरेली पर्व के अवसर पर दुर्ग जिले के पाटन में गोधन न्याय योजना के शुभारंभ गोबर क्रय कर किया।CM भूपेश बघेल पाटन पहुंचने के बाद बैलगाड़ी में सवार होकर गौठान पहुंचे। वहां नागर और गायों की पूजा की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गोधन न्याय योजना के माध्यम से न केवल किसानों, पशुपालकों की आय बढ़ेगी और जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा। मिट्टी की उर्वरता को बचाने के लिए जैविक खाद का उपयोग आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोधन न्याय योजना से पशुधन का संरक्षण और संवर्धन होगा और तरक्की की राह भी खुलेगी।मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि गोबर की खरीदी होने से लोग पशुधन को घर में ही रखेंगे। इससे फसल भी सुरक्षित होगी।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये और रहे देश प्रदेश की खबरों से अपडेट

पशुओं को पर्याप्त चारा भी खिलाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनरेगा के माध्यम से 35 लाख मानव दिवस रोजगार का सृजन हुआ, जो देश में अधिकतम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गौठान को ग्रामीण आजीविका केंद्र के रूप में विकसित कर रहे हैं। यहां एक एकड़ भूमि में रोजगार केंद्र बनेगा। इसे रोजगार ठौर के नाम से जाना जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड काल में सभी समाजों की भूमिका सराहनीय रही। उन्होंने मुक्तहस्त से कोविड पीड़ितों के लिए दान किया। कई किसानों ने इसके लिए हमें चेक प्रदान किये। उन्होंने कहा कि अभी हमें कोरोना से सतर्क राह कर कार्य करने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सुपोषण अभियान के द्वितीय चरण की शुरुआत की। इसके लिए 300 दिन की कार्ययोजना बनाई गई है। इसकी बुकलेट का भी उन्होंने विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में 1300 नालों के उपचार एवं रिचार्जिंग का काम हो रहा है। यह बड़ा कार्य है। इसके माध्यम से भूमिगत जल बढ़ेगा। जंगलों में भी फलदार पौधों का रोपण हो रहा है। इस तरह ग्रामीण सरोकार के छोटे छोटे कार्यों से बड़ा बदलाव संभव है। इस मौके पर विधायक भिलाई देवेंद्र यादव, खनिज विकास निगम के चेयरमैन गिरीश देवांगन, पूर्व विधायक प्रदीप चौबे, नगर पंचायत अध्यक्ष भूपेन्द्र कश्यप, जिला पंचायत उपाध्यक्ष अशोक साहू एवं जनप्रतिनिधिगण, मुख्य सचिव आर.पी. मंडल, पीसीसीएफ राकेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू, कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम. गीता, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी, संभागायुक्त जी आर चुरेन्द्र, आईजी विवेकानंद सिन्हा, संचालक कृषि निलेश क्षीरसागर, कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे, एसपी प्रशांत ठाकुर, जिला पंचायत सीईओ सच्चिदानंद आलोक सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS