CM भूपेश बघेल से मिला फेडरेशन प्रतिनिधिमण्डल,वेतन विसंगति होगी दूर, सभी मांगे शीघ्र होंगी पूरी,CM ने दिया आश्वासन

रायपुर।प्रांताध्यक्ष मनीष मिश्रा, प्रदेश संयोजक जाकेश साहू, प्रदेश सचिव सुखनंदन यादव, जिला अध्यक्ष कृष्णा वर्मा, जिला अध्यक्ष शंकर साहू, प्रकाश चौबे एवं अमित बाम्बेकर की सात सदस्यीय फेडरेशन का प्रांतीय प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिला।प्राताध्यक्ष मनीष मिश्रा एवं प्रदेश संयोजक जाकेश साहू के नेतृत्व में फेडरेशन की प्रांतीय टीम ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अपनी बहुप्रतीक्षित चार सूत्रीय मांगों, 3500 दिवंगत साथियों के परिजनों की लम्बित अनुकम्पा नियुक्ति, संविलियन से वंचित साथियों का वर्ष बन्धन समाप्त कर सबका संविलियन करने, मध्यप्रदेश की तर्ज पर प्रथम नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता का निर्धारण करते हुए प्रथम 10 वर्ष में प्रथम एवं प्रथम 20 वर्ष में द्वीतीय क्रमोन्नत वेतनमान देने तथा सहायक शिक्षक एलबी/पंचायत संवर्ग की वेतन विसंगति दूर करने सहित अन्य सभी मांगो पर काफी विस्तार से चर्चा की गई।सीजीवाल डॉटकॉम के व्हाट्सएप Group से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

सीएम भूपेश बघेल ने फेडरेशन की सारी मांगो व समस्याओं को काफी गम्भीरतापूर्वक सुनने के बाद सभी बिन्दुओ पर टीम फेडरेशन से विस्तार पूर्वक चर्चा-परिचर्चा व विचार-विमर्श किया। साथ ही उन्होंने फेडरेशन प्रांतीय प्रतिनिधिमंडल से कहा कि उन्हें सारी बातों की जानकारी काफी पहले से है, वे सारी चीजों को देख, समझ व जान रहे है। सारी बाते उनके संज्ञान में है। विशेषकर प्रदेश के 1,09,000 शिक्षाकर्मी वर्ग 03 की वेतन विसंगति को अतिशिघ्र दूर की जाएगी एवं सारी मांगे पूरी की जाएगी।

प्रदेशाध्यक्ष मनीष मिश्रा एवं प्रदेश संयोजक जाकेश साहू ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को बताया कि प्रदेश के कुछेक जिलो में फेडरेशन के पदाधिकारियों व सदस्यो का कुछ लोगो ने फर्जी शिकायत कर, राजनीतिक द्वेष वस जबरिया ट्रांसफर करा दिया है। इस मुद्दे पर सीएम ने कहा कि वे इस मामले को दिखवाएंगे, किसी के साथ कोई गलत नहीं होगा। यदि किसी का बेवजह जबर्दस्ती ट्रांसफर हुआ है तो उसे रद्द किया जाएगा।यह बात उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार ने वँहा के अध्यापक संवर्ग की बहुप्रतीक्षित संविलियन की मांगों को पूरा करते हुए, विगत दिनों प्रदेश के 2,84,000 अध्यापक संवर्ग के लिए राजपत्र का प्रकाशन कर दिया है जिसमें सभी अध्यापक संवर्ग को उनके प्रथम नियुक्ति तिथि से वरिष्ठता का निर्धारण करते हुए क्रमोन्नति वेतन का लाभ दिया गया है।

मध्यप्रदेश में क्रमोन्नति वेतनमान मिलते ही छत्तीसगढ़ में भी छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन, पंजीयन क्रमांक 122201859545 ने अपनी मांगे तेज कर दी है तथा प्रदेश के सभी मंत्रियो व सत्ता पक्ष के बड़े नेताओं को इस सम्बंध में प्रत्येक जिलो में प्रांतीय व जिला पदाधिकारियों द्वारा ज्ञापन दिया जा रहा है।

प्रदेशाध्यक्ष मनीष मिश्रा ने बताया कि वेतन विसंगति के कारण प्रदेश के 1,09,000 शिक्षाकर्मी वर्ग 03 को आज प्रत्येक माह 12 से 17 हजार तक का बड़ा भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है। चूंकि पूर्ववर्ती सरकार का संविलियन मसौदा ही काफी विसंगतियुक्त था उक्त संविलियन में वर्ग 03 की घोर उपेक्षा की गई है इसलिए फेडरेशन इसका शुरू से ही भारी विरोध करते आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *