TOP NEWS

CG News- CM Bhupesh ने विधायकों की टिकट को लेकर कहीं यह बात

CG News: रायपुर।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के लिए सिहावा विधानसभा रवाना हुए. इस दौरान हेलीपैड में पत्रकारों से चर्चा की. तीन चौथाई विधानसभा कवर करने पर और विधायकों की रिपोर्ट पर सीएम बघेल ने कहा, मुख्य रूप से शासकीय योजना गरीबों की योजना है. चाहे राशन देने की बात हो या भूमिहीन कृषक मजदूर योजना या अन्य योजना, सभी योजनाओं का लाभ आम जनता उठा रही है.

CG News: सीएम बघेल ने कहा, 5 जगह चुनाव हुए, जहां रिजल्ट हमारे फेवर में आया. भेंट मुलाकात कार्यक्रम के जरिए विधायकों को भी लगातार उनके कार्य बताए जा रहे हैं. जब कार्य अच्छा होगा तो टिकट काटने जैसी कोई बात नहीं आएगी, लेकिन अगर स्थिति नहीं सुधरी तो आगे निर्णय किया जाएगा.

CG News: गोबर से भी पेंट बनाए जाने के सवाल पर सीएम ने कहा, गोबर से पेंट बनाए जाने के अलावा और भी अनेकों कार्य आगे किए जाएंगे. जैसे अब गोठान बिजली उत्पादन केंद्र के रूप में उभर रहा है. अब गांव की महिलाएं बिजली उत्पादन करेंगी. जो कार्य बड़े लोगों द्वारा किया जाता था वो अब ग्राम की महिलाए करेंगी. धर्मांतरण के सवाल पर सीएम भूपेश बघेल ने कहा, भाजपा धर्मांतरण के नाम पर राजनीति करती है.

CG News: इन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता की लोगों को इससे क्या तकलीफ है. मध्यप्रदेश में भी धर्मांतरण हो रहा है, लेकिन जहां इनकी सरकार नहीं है ये केवल वही विरोध करते हैं. नॉर्थ ईस्ट में तो इनकी सरकार है फिर वहां चुप क्यों है. भाजपा को वहां भी विरोध करना चाहिए, जहां उनकी सरकार है.

पेट्रोल पंप में लूट की कोशिश, गोली चलने से मचा हड़कंप

चर्चा के दौरान श्री बघेल ने कहा है कि वैसे विधायक जिनका प्रदर्शन बेहतर नहीं हुआ, तो चुनाव में पार्टी उन पर फैसला लेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि भेंट मुलाकात कार्यक्रम के जरिए विधायकों को भी लगातार उनके कार्य भी बताए जा रहे। क्षेत्र में जिन विधायकों का काम अच्छा होगा, तो फिर उनका टिकट पार्टी क्यों काटेगी, लेकिन अगर स्थिति नहीं सुधारी तो आगे पार्टी उस पर निर्णय लेगी।

मुख्यमंत्री ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पार्टी के प्रदर्शन का आकलन चुनाव में होता है। हमलोगों ने उपचुनाव जीता, नगरीय निकाय चुनाव जीता, तो यही लिटमस पेपर टेस्ट होता है। जहां तक प्रदर्शन का सवाल है, तो अभी भेंट मुलाकात का कार्यक्रम चल रहा है। जहां तक कंडीडेंट का सवाल है तो जहां-जहां हम जा रहे हैं वहां उन्हें बता भी रहे हैं कि ये काम अभी और करना है। अगर स्थिति बेहतर हो गयी तो फिर पार्टी टिकट क्यों काटेगी? और अगर नहीं सुधरा तो फिर पार्टी विचार करेगी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS