सीएम ने तोड़ी परंपरा,कोरोना को लेकर हुई बैठक में प्रधानमंत्री मोदी से पहले खुद दे दिया लाइव

कोरोना की तेज गति पर काबू पाने के लिए आज प्रधानमंत्री के साथ 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक हुई. अब तक की परंपरा के मुताबिक पिछले 1 सालों में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों की बैठक में सारे राज्यों के मुख्यमंत्री अपनी-अपनी बात रखते हैं और अंत में प्रधानमंत्री का उदबोधन होता है, जिसका सरकारी चैनल डीडी और एएनआई लाइव प्रसारण करते रहे हैं.

लेकिन इसबार परंपरा टूट गई और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बैठक में अपनी बातों का लाइव प्रसारण न्यूज एजेंसी एएनआई के जरिए करवा दिया. सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री केजरीवाल की बातों का लाइव प्रसारण देखते ही केंद्र सरकार के तमाम आलाधिकारियों के होश उड़ गए, क्योंकि उन लोगों ने कभी नहीं सोचा था कि जिस बैठक में प्रधानमंत्री को बोलना अभी बाकी हो उस बैठक का लाइव प्रसारण होगा.

बाद में मुख्यमंत्री और उनके कार्यालय ने खेद व्यक्त किया 

केंद्र सरकार के सूत्रों के मुताबिक दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अपनी राजनीति चमकाने के लिए एक बंद दरवाजे की बैठक को सार्वजनिक कर चली आ रही परंपरा को तोड़ा. हालांकि बाद में मुख्यमंत्री और उनके कार्यालय के तरफ से इसपर खेद व्यक्त किया गया. सूत्रों का कहना है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री बिना किसी तैयारी के आए थे, वर्ना वो ऑक्सीजन को एयरलिफ्ट करवाने की बात नहीं करते, क्योंकि ये काम ऑलरेडी शुरू हो चुका है.

सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रेलवे से ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलवाने की मांग का जिक्र किया, जबकि उन्होंने अब तक इसके लिए कोई कोशिश नहीं की और ना ही किसी अधिकारी से बात की. सूत्रों का कहना है कि केजरीवाल ने एक दाम पर ही कोरोना के वैक्सीन की बात कही जबकि वो जानते हैं कि केंद्र सरकार एक भी डोज अपने पास नहीं रखती बल्कि सभी राज्यों को देती है.

केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए बहुत ज्यादा काम किए

सूत्रों का कहना है कि जब सारे प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्री अपने अपने राज्यों में कोरोना से निपटने के लिए किए जा रहे कामों कर रहे थे, तब मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एक शब्द नहीं बोला कि वो दिल्ली के लिए क्या कर रहे हैं. केंद्र सरकार के सूत्रों के मुताबिक कोरोना के खिलाफ जंग में केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए बहुत ज्यादा काम किए हैं. दिल्ली में आईसीयू बेड्स की संख्या बढ़ाने में केंद्र सरकार पूरी ताकत से मदद कर रही है. इस क्रम में प्रधानमंत्री केयर फंड से केंद्र ने दिल्ली कैंट में डीआरडीओ के जरिए 500 आईसीयू बेड बनवाए जहां 250 बेड्स पर इलाज किया जा रहा है और 250 बेड्स आज शाम से शुरू हो जाएगा.

दिल्ली के छतरपुर में सरदार पटेल कोविड सेंटर में ऑक्सीजन और मेडिकल स्टॉफ से युक्त 500 बेड्स की व्यवस्था का आदेश हो चुका है. दिल्ली में केंद्र सरकार के अस्पतालों में बेड्स की संख्या 1090 से बढ़ाकर 3800 की गई है. डीआरडीओ अस्पताल में 536 अतिरिक्त बेड्स लगवाए गए हैं. कुल मिलाकर दिल्ली में 730 आइसीयू बेड्स के साथ कुल 4159 बेड्स का इंतजाम केंद्र ने किया है. केंद्र ने दिल्ली में प्रतिदिन ऑक्सीजन सप्लाई को 378 मीट्रिक टन से बढ़ाकर 480 मीट्रिक टन किया. केंद्र सरकार दिल्ली में ऑक्सीजन की निर्बाध सप्लाई को रियल टाइम मॉनिटर कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *