वैक्सीन की किल्लत को लेकर केंद्र सरकार पर बरसे CM ,राज्य मंत्री को कहा स्वास्थ्य मंत्री के घर जाकर धरना दीजिए

जयपुर।राजस्थान में वैक्सीनेशन (Vaccination in Rajasthan) को लेकर राज्य सरकार और केंद्र सरकार आमने-सामने आ गए हैं. ऐसा तब हुआ जब सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल (Minister of State Arjun Mehgwal) वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान बीकानेर में बन रही मेडिसिन यूनिट समेट कई योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन कर रहे थे. जहां सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार पर हमले किए. सीएम ने कहा कि राज्य में सिर्फ एक दिन की वैक्सीन बची है. अगर केंद्र सरकार ने और वैक्सीने नहीं दी तो राज्य में वैक्सीनेशन बंद हो जाएगा.जहां कार्यक्रम में मेघवाल ने अपने भाषण के दौरान बीकानेर जिला प्रशासन की तारीक की. वहीं सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार पर जमकर हमले किए. उन्होंने कहा केंद्र सरकार ने हमें 2 करोड़ 22 लाख डोज दी थी. इसमें से हम दो करोड़ 20 लाख डोज लगा चुके हैं. अब सिर्फ दो लाख डोज बची हैं. ऐसे में अब हमारे पास सिर्फ एक दिन की डोज ही बची हैं.

आप तो साइकिल मैन हैं…

वहीं गहलोत ने अर्जुन मेघवाल पर भी हमले किए. उन्होंने कहा कि आप तो साइकिल मैन हैं. साइकिल से ही संसद भी जाते हैं. एक बार आपको साइकिल से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के घर भी जाना चाहिए और राजस्थान को वैक्सीने देने के लिए कहना चाहिए. हमें अभी डेढ़ करोड़ डोज की जरूरत है. सीएम ने आगे कहा कि और ये सब सिर्फ कहने से नहीं होगा. आपको इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री के घर धरना भी देना होगा.

राजस्थान बाकि राज्यों से अलग

सीएम गहलोत के कहा कि केंद्र सरकार को राज्यस्थान को बाकि राज्यों से अलग देखना चाहिए. राजस्थान सिर्फ कोरोना मैनेजमेंट में ही नहीं बल्कि वैक्सीनेशन में भी सबसे आगे है. राज्स्थान में रोजाना 15 लाख कोरोना वैक्सीन लगाने की क्षमता है. लेकिन आज हमारे पास वैक्सीन की किल्लत है. सीएम अशोक गहलोत ने आगे कहा कि अगर ऐसी ही स्थिति रही तो हम तीसरी लहर से कैसे लड़ेगे?

हमें कोरोना वैक्सीन की जरूरत

सीएम अशोक गहलोत ने मेघवाल से अपील कि वो केंद्र सरकार को राज्य के बारे में समझाएं और वैक्सीन दिलाने की कोशिश करें. सीएम ने मेघवाल पर चुटकी लेते हुए कहा कि आप साइकिल मैन हैं, हमने बीकानेर में साइकिल वैलोड्रम भी बना दिया है. आप वहां प्रेक्टिस करें और स्वास्थ्य मंत्री के घर साइकिल से जाएं. इसके बाद ही उन्होंने समझा आएगा राज्यो को वैक्सीन की कितनी जरूरत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *