दुर्ग कलेक्टर की ये अपील,15 अक्टूबर तक छोटी गाड़ियों के लिए ओवरब्रिज शुरू कराने के दिये निर्देश

दुर्ग।कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे एवं एसपी बद्रीनारायण मीणा ने आज कुम्हारी ओवरब्रिज का निरीक्षण किया और यहाँ ट्रैफिक की दिक्कतों को देखते हुए जरूरी निर्देश अधिकारियों को दिये। कलेक्टर ने एनएच प्रबंधन से कहा कि 15 अक्टूबर तक छोटी गाड़ियों के लिए ओवरब्रिज शुरू करा दें और 15 नवंबर तक सभी गाड़ियों के लिए इसे शुरू कराएं। इस समय सीमा का पालन सुनिश्चित करें। ट्रैफिक की दिक्कतों की वजह से एक-एक दिन का टारगेट भी बेहद महत्वपूर्ण है। युद्धस्तर पर कार्य करें और इसे समयसीमा में समाप्त करें। समयसीमा पर काम नहीं हुआ तो सख्त कार्रवाई संबंधितों पर की जाएगी।

कलेक्टर ने कहा कि दुर्ग से रायपुर के बीच काफी संख्या में लोग आना-जाना करते हैं उन्हें पूरी तरह इस सड़क में सुविधा मिले, जाम का सामना न करना पड़े, यह प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसकी लगातार मानिटरिंग की जाएगी। इस दौरान सहायक कलेक्टर श्री हेमंत नन्दनवार, एएसपी श्री संजय ध्रुव, एसडीएम श्री बृजेश क्षत्रिय एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।

वैकल्पिक रूट को फालो करने की अपील- कलेक्टर ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि एनएच के अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि तेजी से निर्माण कार्य करें। इसके बावजूद ट्रैफिक का लोड बढ़ने की वजह से किसी समय ट्रैफिक जाम की दिक्कत का सामना इस रूट पर नागरिकों को करना पड़ सकता है। ट्रैफिक के लिए वैकल्पिक रूट बनाये गये हैं तथा इसे दर्शाया भी गया है। इसे फालो करें, आपको समय भी उतना ही लगेगा और ईंधन की खपत भी लगभग उतनी ही होगी।

पैचेस के लिए देर न लगाएं, तुरंत करें मरम्मत- ट्रैफिक से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि बरसात होने पर गड्ढे बन जाते हैं और मरम्मत तक ट्रैफिक प्रभावित रहता है। वाहनों की स्पीड 3 से 4 किमी तक रह जाती है। कलेक्टर ने एनएच के अधिकारियों से कहा कि ऐसी स्थिति बिल्कुल निर्मित न होने दें। लगातार मानिटरिंग करते रहें और मरम्मत की जरूरत होने पर तुरंत कार्रवाई करें। साथ ही उन्होंने ड्रेनेज पर भी नजर रखने के निर्देश अधिकारियों को दिये। अतिक्रमण हटाने के निर्देश- कलेक्टर ने इस दौरान एसडीएम को मार्ग से अतिक्रमण चिन्हांकित कर हटाने के निर्देश दिये। साथ ही अवैध पार्किंग पर भी कार्रवाई के निर्देश दिये गये। उन्होंने कहा कि यदि पोल शिफ्टिंग की जरूरत है तो वे भी करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *