कलेक्टर ने समीक्षा बैठक में राजस्व अधिकारियों को दिए कई निर्देश

रामानुजगंज(पृथ्वीलाल केशरी)कलेक्टर श्याम धावड़े की अध्यक्षता में राजस्व अधिकारियों की बैठक आयोजित की गयी। उन्होंने लोक सेवा गांरटी,जाति प्रमाण पत्र,ऋण पुस्तिका, किसान पंजीयन,अनुभाग स्तर के न्यायालय में लंबित प्रकरण,बारदाने की उपलब्धता,राशन कार्ड का वितरण,धान खरीदी की तैयारी के संबंध में चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि लोक सेवा गांरटी के अंतर्गत आने वाले सेवाओं तथा प्रमाण पत्रों के लिए प्राप्त आवेदनों का निराकरण समय-सीमा में पूर्ण करना है। उन्होंने उप पंजीयक सहकारिता से धान उपार्जन केन्द्रों के बारे में जानकारी लेते हुए समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने लोक सेवा गारंटी के अंतर्गत प्रदत्त सेवाओं के संबंध में बात करते हुए कहा कि जाति प्रमाण पत्र के लिए प्राप्त आवेदनों को अनावश्यक रूप से निरस्त न किया जाये।

किसानों के पंजीयन कार्य में तेजी लाने तथा निर्धारित समय में पंजीयन कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये। धान खरीदी की तैयारियों के संबंध में चर्चा करते हुए उन्होंने उपार्जन केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को कहा। कृषकों के ऋण पुस्तिका का दुरूपयोग न हो तथा बिचैलियों एवं कोचिए कृषकों के ऋण पुस्तिका का प्रयोग न करें, इस हेतु आवश्यक कदम उठायें तथा ऐसे मामले संज्ञान में आने पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को वर्दी देेंने एवं कोटवारो के रिक्त पदों पर नई नियुक्ति करने के निर्देश दिये।

बैठक के अंत में अपर कलेक्टर विजय कुमार कुजूर ने अनुभाग स्तर के राजस्व न्यायालयों में लंबित प्रकरणों की संख्यात्मक जानकारी देते हुए इनका निराकरण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि राजस्व परिपत्र 6-4 के मामलों में कार्यवाही करते हुए क्षतिपूर्ति की राशि हितग्राहियों को शीघ्र प्रदान किया जाये।इस अवसर पर सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, डिप्टी कलेक्टर बालेश्वर राम, जिला खाद्य अधिकारी शिवेन्द्र काम्टे,सर्व तहसीलदार एवं राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

सार्वजनिक छठ पूजा पर लगा रोक कलेक्टर ने जारी किया निर्देश

कलेक्टर श्याम धावड़े ने छठ पूजा आयोजन के संबंध में जनप्रतिनिधियों तथा विभिन्न छठ पूजा समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर सर्व सम्मति से यह निर्णय लिया कि कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम को दृष्टिगत रखते हुए इस बार जिले में छठ पूजा का आयोजन घर में ही किया जायेगा। तथा आमजन किसी भी नदी,नाला,तालाब,पोखर आदि में अर्घ देने नहीं जायेंगे। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए यह आवश्यक हो गया है समिति के सदस्यों के साथ बैठक कर छठ पूजा घर में ही मनाने का निर्णय लिया गया है। छठ पूजा के लिए सामग्री विक्रय करने हेतु सप्ताहिक बाजार चिन्हांकित किए गये हैं। इसके अतिरिक्त भीड़-भाड़ होने पर नगर पालिका परिषद/नगर पंचायत द्वारा अन्य स्थान पर बाजार की व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। इन सभी निर्देशों के साथ-साथ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी निर्देशों का भी पालन करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *