6 करोड़ की धोखाधड़ी..मुम्बई विरार में पुलिस की रेड कार्रवाई..मामा के ठिकाने से आरोपी गिरफ्तार

बिलासपुर— कोतवाली पुलिस ने डॉमर के एवज में 6 करोड़ रूपए लेकर घोखाधड़ी करने के आरोपी को कडी मशक्कत के बाद मुम्बई से गिरफ्तार किया है। आरोपी एफआईआर के बाद फरार चल रहा था। आरोपी का नाम  दर्शन भास्कर मेहता पिता भास्कर मेहता है।
 
               कोतवाली पुलिस के अनसुार 17 अप्रैल 2022 को करबला निवासी प्रार्थी वृहत साम पाण्डेय ने जेजे इण्डस्ट्रीज मुम्बई के प्रोप्राईटर दर्शन मेहता और भास्कर मेहता के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराया। पीड़ित ने बताया कि जेजे इण्डस्ट्रीज के प्रोपाइटर दर्शन मेहता से 12500 मिट्रिक टन का बिटुमिन यानि डामर का 16 लाट आर्डर किया। डॉमर की कीमत करीब 47 करोड़ 47 लाख 79 हजार 411 रूपये है। कुल राशि का 20 प्रतिशत यानि 9 करोड़ 57लाख 68 हजार 800 भुगतान किया।
 
6 करोड़ की धोखाधड़ी
 
                     प्रोपाइटर ने वादा किया कि 1 फरवरी 2022 से 8 अप्रैल 2022 तक 16 टन यानि 12500 मिट्रिक टन डॉमर आर्डर पूरा करने का आश्वासन दिया। लेकिन आरोपी ने 8425.57 मिट्रिक टन डामर की ही सप्लाई किया। इसके बाद 28 करोड़ 63 लाख 39 हजार 653 का भुगतान कराया। अग्रिम राशि में से 3 करोड़ 36 लाख 83 हजार को एडजेस्ट किया। कुल 32 करोड़ 22 हजार 973 रूपए  लेने के बाद बाकी डामर 4074.43 मिट्रिक टन का ना तो आपूर्ति किया और अग्रिम राशि 6 करोड़ 20 लाख 85 हजार 480 रूपए ही लौटाया।
 
धोखेबाज के खिलाफ अपराध दर्ज
 
            पीड़ित ने बताया कि जेजे इण्डस्ट्रीज के प्रोपाइटर दर्शन मेहता और भास्कर मेहता ने 6 करोड़ रूपये क धोखाधडी किया है। सिटी कोतवाली पुलिस के अनुसार अपराध दर्ज मामले की जानकारी आलाधिकारियों को दी गयी।
 
पुलिस टीम मुम्बई रवाना
 
           मामले को पुलिस कप्तान पारूल माथुर के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस कप्तान उमेश कश्यप, नगर पुलिस अधीक्षक स्नेहिल साहू के मार्गदर्शन में टीम तैयार कियाग या। थाना प्रभारी प्रदीप आर्य और उपनिरीक्षक रविन्द्र कुमार यादव की अगुवाई में टीम को मुम्बई रवाना किया गया। 
 
विरार से आरोपी गिरफ्तार
 
           पुलिस मुम्बई पहुंचकर पतासाजी कर आरोपी के निवास पर धावा बोला गया। पुलिस ने मुम्बई स्थित अलग अलग ठिकानों पर भी रेड कार्रवाई को अंजाम दिया। विरार स्थित मामा के घर की घेराबंदी और दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। उचित कार्रवाई के बाद आरोपी को न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है।
इनका रहा विशेष योगदान
 
                         पूरी कार्रवाई में निरीक्षक थाना प्रभारी प्रदीप कुमार आर्य, उपनिरीक्षक रविन्द्र कुमार यादव आरक्षक अजय शर्मा, इन्द्र कुमार पटेल, सिटी कोतवाली स्टाफ समेत सायबर सेल नवीन एक्का का अहम और विशेष योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *