ईमानदार कार्यशैली के लिए पारदर्शिता प्रतिबद्धता,जवाबदेही जरूरी..जागरूकता सप्ताह शुभारम्भ में सीएमडी ने कहा.. कम्पनी की उन्नति में बने सहायक

बिलासपुर—-एसईसीएल में सतर्कता जागरूकता सप्ताह का शुभारम्भ गरिमामय कार्यक्रम में कोविड काल में शासन के दिशा निर्देशों के प्रकाश में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ  सीएमडी ए.पी. पण्डा के मुख्य आतिथ्य में किया गया। इस अवसर पर निदेशक (कार्मिक) डा. आर.एस. झा, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन) बी.पी. शर्मा, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एम.के. प्रसाद, निदेशक (वित्त) एस.एम. चैधरी उपस्थित थे।
 
              उद्घाटन के अवसर पर मुख्य अतिथि अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने कहा कि हमें अपने दैनिक कार्यों में पूरी पारदर्शिता बरतनी चाहिए। हमारे प्रति हमारे साथ कार्य कर रहे लोगों का विश्वास बढ़ेगा। पण्डा ने कहा कि कार्य में पारदर्शिता, प्रतिबद्धता और जवाबदेही का समावेश होने से ही ईमानदार कार्यशैली का विकास होगा। इस दौरान सीएमडी ने बताया कि शिकायतों को तेजी से दूर किया जाएगा। लेकिन सभी को व्यवहार में अपेक्षित सकारात्मक बदलाव लाकर नई तकनीकी का इस्तेमाल करने के साथ कम्पनी की उन्नत्ति में सहायक बनना होगा।
 
                अपने सम्बोधन में सीएमडी ने ई-आफिस कार्यान्वयन की सराहना की। उन्होंने सम्पूर्ण कार्यक्रम के सफलतापूर्वक आयोजन की बात कही। मुख्य सतर्कता अधिकारी  बी.पी. शर्मा ने कहा कि इस वर्ष सतर्कता जागरूकता सप्ताह का मुख्य विषय ’सतर्क भारत, समृद्ध भारत’ है। शिकायतोें की घटती प्रवृत्ति निवारक सतर्कता की सफलता का संकेत है। कर्मचारियों से आव्हान किया कि सभी स्तर के अधिकारी प्रबंधन और सी.वी.सी. के गाइड लाईन्स का गंभीरतापूर्वक से पालन करें। कार्य-निष्पादन के दौरान निर्णय लेने में  सुविधा होगी।
 
                  इस अवसर पर विडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मुख्य अतिथि ने प्रतिज्ञा का पाठ किया। उपस्थित सभी लोगें ने प्रतीज्ञा को दुहराया। साथ ही महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, कोयला एवं संसदीय मामलों के मंत्री प्रल्हाद जोशी, सतर्कता आयोग और सीआईएल चेयरमेन के संदेश को भी पढ़ा गया।
 
                        कार्यक्रम के दौरान एसईसीएल की वर्तमान प्रणालियों को बेहतर बनाने विभिन्न आनलाईन पोर्टल का उद्घाटन अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने किया।  पोर्टल में ’हार्मनी’-कर्मियों के सुझाव और शिकायत को तेजी से निवारण करने को कहा गया।  महाप्रबंधक (तकनीकी सेवाएं) एस.के. पाल, महाप्रबंधक (कार्मिक/प्रशासन) ए.के. सक्सेना, महाप्रबंधक (सिस्टम) बी. गंगाधर विशेष रूप से मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन मोहनीश चिंगप्पा, उप प्रबंधक (कार्मिक/सतर्कता) ने किया। आभार प्रदर्शन जे.पी. सिंह मुख्य प्रबंधक (सामग्री प्रबंधन/सतर्कता) ने किया।         
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...