अजय चंद्राकर का तंज – बेरोजगारी/महंगाई पर कांग्रेस को विरोध प्रदर्शन का नैतिक अधिकार नहीं

रायपुर। महंगाई और बेरोजगारी का विरोध करने पहुंचे कांग्रेसी केंद्र सरकार के विरोध में नारे लगाते रहे और इसी बीच जेब कतरों ने उनके बटुए और मोबाइल पपार कर दिए। कांग्रेसियों ने शुक्रवार को अंबेडकर चौक पर विरोध का प्रोग्राम रखा। अनुमान है कि विरोध प्रदर्शन के बीच में कुछ जेब कतरे घुस गए थे। प्रदर्शन खत्म होने के बाद देखा तो किसी का पर्स गायब था तो किसी का मोबाइल। पूर्व मंत्री और कुरूद विधायक अजय चंद्राकर ने तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ मोहन मरकाम उर्फ गुरुजी अध्यक्ष छत्तीसगढ़ (कांग्रेस शोषित)कल कांग्रेस के झंडे में हुआ आंदोलन चोर उच्चको का था या कांग्रेस में सिर्फ चोर उच्चके है?कृपया स्पष्ट करें?और पीड़ितों के लिए “न्याय योजना” कब तक बनेगी।

छत्तीसगढ़ में युवा कांग्रेस चुनाव में फर्जी सदस्यता करने वालों का भंडाफोड़ हुआ है। कुत्ते, बिल्ली समेत अन्य जानवर पेड़ और तालाब की फोटो अपडेट करके सदस्य बनाने वालों को युवक कांग्रेस के केंद्रीय संगठन ने झटका दिया है। छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस सुनाव में 17 लाख सदस्य बने थे।स्क्रूटनी में 9 लाख सदस्य फर्जी पाए गए। जिसे लेकर श्री चंद्राकर ने कहा कि मोहन मरकाम प्रदेश अध्यक्ष छत्तीसगढ़ (कांग्रेस शोषित) छत्तीसगढ़ में वन्य प्राणियों की जनगणना 2018 से हुई नहीं है? आपने किससे गणना करवा कर कुत्ते बिल्ली और पेड़ पौधे की संख्या निकाली?क्या कांग्रेस के संविधान में कुत्ते ,बिल्ली और पेड़ पौधे को भी सदस्य बनाने का प्रावधान है।

इधर बढ़ती महंगाई को लेकर भी चंद्राकर ने निशाना साधा,उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ कांग्रेस शोषित एवं संवैधानिक आंदोलनकारी )आपको बेरोजगारी व महंगाई में आंदोलन करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।आपने बिजली बिल की टेरिफ बढ़ाई है और शराब व रजिस्ट्री में सेस लगाया।उससे महंगाई नहीं बढ़ेगी क्या? आपके रोजगार मौसम की तरह बदलते रहते हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *