कांग्रेस का प्रदेश महाबंद एलान..शिक्षाकर्मियों का मिला समर्थन..व्यापारी संगठनों ने कहा..हम भी साथ

IMG-20171204-WA0009   बिलासपुर— प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के निर्देस पर पांच दिसम्बर को छत्तीसगढ़ बंद का एलान किया गया है। बिलासपुर जिला कांग्रेस नेताओं ने आज शहर के आम नागरिक और व्यापारी संस्थानों से छत्तीसगढ़ महाबंद के लिए समर्थन मांगा है। जिला कांग्रेस नेताओं ने घूम घूम कर शहरवासियों ने बताया कि शिक्षाकर्मी पिछले पन्द्रह दिनों से सड़क पर उतरकर सरकार से अधिकार की मांग कर रहे हैं। वादा करने के बाद भी सरकार शिक्षाकर्मियों को हक नहीं दे रही है।

                        पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल के छत्तीसगढ़ महाबंद के एलान के बाद आज जिला कांग्रेस कमेटी ने शहर का भ्रमण किया। शहर के आम और खास सभी से घूम घूम कर महाबंद का समर्थन मांगा। मालूम हो कि पीसीसी चीप भूपेश ने दो दिन पहले शिक्षाकर्मियों की मांग को लेकर 5 नवम्बर को छत्तीसगढ़ महाबंद का एलान किया है।इसी क्रम में आज जिला कांग्रेस नेताओं ने आज घूम घूम कर आम जनता के साथ व्यापारियों से बंद का समर्थन मांगा।

                             जिला कांग्रेस नेताओं ने शहरवासियों से समर्थन मांगने से पहले नेहरू चौक स्थित क्षिशाकर्मियों के धरना स्थल पहुंचे। शिक्षाकर्मियों से छत्तीसगढ़ महाबंद का समर्थन मांगा। शिक्षाकर्मियों ने कहा कि हम 9 सूत्रीय मांग को लेकर कांग्रेस के महाबंद का समर्थन करते हैं।

                                                                   इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने बताया कि महाबंद से आवश्यक सेवाओं जैसे मेडिकल दुकानों को अलग रखा जाएगा। 5 दिसम्बर को सुबह 9.30 बजे कांग्रेस कार्यकर्ता अनुषांगिक इकाइयों के पदाधिकारियों के साथ नेहरू चौक में एकत्रित होंगे। चांटापारा,सदर बाजार,सिटी कोतवाली,जूना बिलासपुर,गांधी चौक,शिव टाकीज़,बस स्टैंड,अग्रसेन चौक ,सत्यम चौक पहुंचकर बंद को सफल बनाने की अपील करेंगे।IMG-20171204-WA0010

शांति पूर्ण होगा महाबंद

                प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव ने बताया कि महाबंंद कार्यक्रम शांति के साथ किया जाएगा। शिक्षाकर्मियों की 9 सूत्रीय मांग को लेकर शहर के नागरिकों ने कांग्रेस के महाबंद का समर्थन किया है। आज जनसंपर्क के दौरान व्यापारिक प्रतिष्ठानों ने आश्वासन दिया है कि यदि बिलासपुर बंद से शिक्षाकर्मियों का होता है तो हम इसके लिए तैयार हैं। अटल ने बताया कि प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व सांसद पी आर खूंटे बिलासपुर बन्द में शामिल होंगे। अटल ने बताया कि 15 दिन शिक्षाकर्मी हड़ताल पर हैं। सरकार संवाद का रास्ता छोड़ प्रशासनिक दबाव बना रही है। शिक्षाकर्मियों पर दबाव डाला जा रहा है। काम पर नहीं लौटने वालो को बर्खास्त भी किया जा रहा है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने शिक्षाकर्मियो की मांग को सही ठहराते हुए समर्थन का एलान किया है।

ब्लाक,कस्बों में भी दिखेगा बंद असर

                       ग्रामीण अध्यक्ष राजेंद्र शुक्ला ने बताया कि जिले के सभी ब्लाकों और स्बाई क्षेत्रो में एक दिन का महाबन्द अभियान चलाया जाएगा। तखतपुर,कोटा,पेंड्रा,मरवाही,रतनपुर,बेलतरा,मस्तूरी, बिल्हा, के पदाधिकारियों को बंद की रूपरेखा की जानकारी दी गयी है। बंद शांतिपूर्ण होगा…ब्लाक अध्यक्षो और विधान सभा प्रभारी महासचिवो को संज्ञान ला दिया गया है। राजेन्द्र शुक्ला ने बताया कि महाबंद एलान के बाद 5 और 6 दिसम्बर को मस्तूरी में पूर्व निर्धारित किसान अधिकार न्याय पद यात्रा ” को स्थगित कर 7 और 8 दिसम्बर कर दिया गया है।

शिक्षाकर्मियों के साथ हो रहा अन्याय

       IMG-20171204-WA0008     जिला शहर कांंग्रेस अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर ने बताया कि जनहित मुद्दों को लेकर कांग्रेस गंभीर है। प्रदेश के किसान,गरीब और मजदूर सरकार की तानाशाही से परेशान थे। अब शिक्षाकर्मियों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एक लाख 80 हजार शिक्षाकर्मियों से 17 साल से ठगा जा रहा है। शर्म आती है देखकर की देश और समाज में जिन्हें बहुत ही सम्मान की नजर से देखा जाता है। आज वहीं लोग परिवार के साथ सड़़क पर हैं। सरकार को हर हालत में शिक्षाकर्मियों की मांग को पूरा करना होगा।

                                   बिलासपुर बन्द को सफल बनाने वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव, ग्रामीण अध्यक्ष राजेंद्र शुक्ला,शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर,शेख गफ्फार,विजय पांडेय,चंद्र प्रकाश बाजपाई,महेश दुबे,अभय नारायण राय नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरुद्दीन,तैय्यब हुसैन,शिवा मिश्रा,जसबीर गुम्बर, विवेक बाजपेयी,आशीष सिंह,पंकज सिंह,कृष्ण कुमार यादव,अर्जुन तिवारी, तरु तिवारी,बैजनाथ चंद्राकर ,राजेश पांडेय,अभयनारायण राय,भुवनेश्वर यादव,शिवा मिश्रा ने व्यापारी संघों से बिलासपुर बन्द के लिये समर्थन मांगा। चैम्बर्स ऑफ कामर्स,सराफा बाजार संघ,बस स्टैंड व्यापारी संघ,जूना बिलासपुर ,मुंगेली नाका,गोल बाजार,सदर बाजार,बुधवारी बाजार,व्यापार विहार ,सब्जी मार्किट,शनिचरी बाजार,तेली पारा, कपड़ा व्यापारी,राजीव प्लाजा,देवकीनन्दन व्यापारी,अरपा पार के व्यापारी संगठनों ने शिक्षाकर्मियों की मांगो का समर्थन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *